• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • पंजाब: लंच पर आए नेताओं ने कैप्‍टन से की मांग, किसी 'हिंदू' को बनाया जाए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष

पंजाब: लंच पर आए नेताओं ने कैप्‍टन से की मांग, किसी 'हिंदू' को बनाया जाए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष

कहा जा रहा है कि लंच पर बैठक के दौरान इन नेताओं ने कहा कि वो नवजोत सिंह सिदधू को प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर स्वीकार नहीं करेंगे. (फोटो- ANI)

Punjab Congress Political Crisis: दावा किया जा रहा है कि कलह को दूर करने के मकसद से पार्टी आलाकमान जल्द ही मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के लिए सम्मानजनक स्थिति वाला फॉर्मूला निकाल सकता है.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब में कांग्रेस की मुश्किलें (Punjab Congress Crisis) खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. ऐसा लग रहा है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू की लड़ाई सुलझने के बजाय उलझती जा रही है. गुरुवार को अमरिंदर सिंह ने अपने खेमे के कुछ हिंदू नेताओं को लंच पर बुलाया था. इसी दौरान इन नेताओं ने किसी हिंदू को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष (PPCC chief) बनाने की मांग रख दी. अमरिंदर सिंह के इस नए शिगुफे से नवजोत सिंह सिद्धू फंस सकते हैं. दरअसल ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि दिल्ली में बैठा हाईकमान सिद्धू को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की तैयारी में है.

    अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि मुख्यमंत्री अमरिंद सिंह ने ये बातें पहले ही केंद्रीय नेतृत्व से कह दी है. सीएम जिन दो नेताओं को पंजाब प्रदेश कमिटी का अध्यक्ष बनाना चाहते हैं वो हैं- लोकसभा के सांसद मनीष तिवारी और राज्य के शिक्षा-पीडब्ल्यूडी मंत्री विजय इंदर सिंगला. सूत्रों ने ये भी दावा किया है कि लंच पर बैठक के दौरान इन नेताओं ने कहा कि वो नवजोत सिंह सिदधू को प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर स्वीकार नहीं करेंगे.

    ये भी पढ़ें:- पाकिस्तान की बदहाली से इमरान परेशान, कहा- बच्चों को भी नहीं मिल रहा सही खाना

    मौजूदा पीपीसीसी प्रमुख को लंच पर नहीं बुलाया
    दिलचस्प बात यह है कि मौजूदा पीपीसीसी प्रमुख सुनील कुमार जाखड़, जो एक हिंदू नेता भी हैं, उन्हें लंच मीटिंग के लिए आमंत्रित नहीं किया गया था, जबकि सीएम ने राज्य भर के नेताओं को आमंत्रित किया था. इस बैठक में कई नेताओं ने मुख्यमंत्री से कहा कि हिंदुओं और सिखों को समान प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए, पार्टी को एक हिंदू को पीपीसीसी प्रमुख के रूप में नामित करना चाहिए.

    जल्द निकलेगा समाधान?
    इस बीच दावा किया जा रहा है कि कलह को दूर करने के मकसद से पार्टी आलाकमान जल्द ही मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के लिए सम्मानजनक स्थिति वाला फॉर्मूला निकाल सकता है. वहीं, कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने संवाददाताओं से बातचीत में फिर दोहराया कि इस मामले का 8-10 जुलाई तक समाधान निकल सकता है. उन्होंने कहा कि सिद्धू ने कांग्रेस नेतृत्व के समक्ष अपनी बातें रखी हैं और इससे मुद्दे के समाधान में मदद मिलेगी. सिद्धू ने बुधवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के साथ लंबी बैठक की थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज