अपना शहर चुनें

States

अमेरिकी कॉर्पोरेट क्षेत्र के पास पहुंचे कैप्टन अमरिंदर सिंह, पंजाब में निवेश के लिए किया इनवाइट

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कहा कि 2019-20 में पंजाब का अमेरिका को निर्यात 68.5 करोड़ अमरीकी डॉलर था, जो राज्य के कुल निर्यात का लगभग 12 प्रतिशत है. उन्होंने कहा कि पंजाब की कंपनियों के लिए अमेरिका बड़ा एक्स्पोर्ट डेस्टिनेशन है.

  • Share this:
वॉशिंगटन. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह मंगलवार को अमेरिका-पंजाब निवेशक गोलमेज सम्मेलन 2020 (USA-Punjab Investors Roundtable 2020) में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने राज्य में कॉर्पोरेट निवेश और कृषि कानूनों पर भी बात की. सिंह ने राज्य में निवेश जुटाने के लिए अमेरिकी कॉर्पोरेट क्षेत्र को राज्य की उद्योग और निवेशकों के अनुकूल नीतियों के बारे में बताया.

उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के कारण कई महीनों तक लागू लॉकडाउन (Lockdown) के बाद पंजाब की अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है, प्रवासी मजदूर वापस लौटने लगे हैं और उद्योग अपने पैरों पर खड़े हो गए हैं. सिंह ने कहा कि पंजाब में सरकार ने उद्योग और निवेशकों के अनुकूल नीतियां बनाई हैं. उन्होंने निवेशकों को राज्य में आमंत्रित करते हुए कहा कि पंजाब की कंपनियों के लिए अमेरिका बड़ा एक्स्पोर्ट डेस्टिनेशन है.

उन्होंने कहा कि 2019-20 में पंजाब का अमेरिका को निर्यात 68.5 करोड़ अमरीकी डॉलर था, जो राज्य के कुल निर्यात का लगभग 12 प्रतिशत है. सीएम ने कहा कि पेप्सी और वॉलमार्ट () ने पंजाब में अपने भारतीय परिचालन की शुरुआत की और इस समय अमेजन, वॉलमार्ट, क्वार्क, कारगिल, टायसन, श्रेयबर, पेप्सी, कोका कोला सहित 30 से अधिक अमेरिकी कंपनियां राज्य में संचालन कर रही हैं.



मास्टरकार्ड के सीईओ अजय बंगा के एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने स्वीकार किया कि कृषि विधेयकों को लेकर उनके बीच मतभेद हैं. उन्होंने कहा, ‘हम कॉरपोरेट क्षेत्र के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन किसानों और कमीशन एजेंटों के साथ लंबे समय से चले आ रहे रिश्ते को बचाने के लिए प्रावधान होना चाहिए.’ उन्होंने कहा कि इस परंपरागत प्रणाली को खत्म करने का कोई भी प्रयास सफल नहीं होगा.ॉ

सिंह ने कहा कि कृषि कानूनों के असर को कम करने के लिए उनकी सरकार पंजाब विधानसभा में विधेयक लाई है और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने भी इस इस मुद्दे को उठाया है. अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा कि पंजाब और अमेरिका के बीच कृषि तथा फूड प्रोसेसिंग, शिक्षा, कपड़ा तथा परिधान, नवीकरणीय ऊर्जा, प्रकाश इंजीनियरिंग, फार्मा और आईटी जैसे कई क्षेत्रों में सहयोग की संभावनाएं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज