• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • कृषि कानूनों को एक साल पूरा: कैप्टन बोले- किसानों को बातचीत के लिए बुलाए केंद्र

कृषि कानूनों को एक साल पूरा: कैप्टन बोले- किसानों को बातचीत के लिए बुलाए केंद्र

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

New Farm Laws: मुख्यमंत्री ने कहा कि विरोध प्रदर्शनों में कई किसान मारे जा चुके हैं, अब समय आ गया है कि केंद्र सरकार को अपनी गलती का एहसास हो और देश हित में कानूनों को वापस ले लिया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. देश में कृषि कानूनों (Farm Laws) को एक साल पूरे होने पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने शुक्रवार को केंद्र से इन कानूनों को तत्काल रद्द करने की मांग की और आगे का रास्ता निकालने के लिए किसानों के साथ विस्तृत चर्चा करने का आह्वान किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि विरोध प्रदर्शनों में कई किसान मारे जा चुके हैं, अब समय आ गया है कि केंद्र सरकार को अपनी गलती का एहसास हो और किसानों और देश के हित में कानूनों को वापस ले लिया जाए.

    मुख्यमंत्री पंजाब कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना (Punjab Agricultural University Ludhiana) द्वारा आयोजित तीसरे राज्य स्तरीय वर्चुअल किसान मेले (Kisan Mela) का उद्घाटन कर रहे थे. दो दिवसीय मेला पराली जलाने को खत्म करने की थीम पर केंद्रित है. उन्होंने कहा कि अब तक भारतीय संविधान में 127 बार संशोधन किया जा चुका है, तो कृषि कानूनों को खत्म करने और उनसे उत्पन्न होने वाले विवाद को हल करने के लिए एक बार फिर संशोधन क्यों नहीं किया जा सकता है. इसे 128वीं बार करने में क्या समस्या है?

    कैप्टन ने कहा कि किसानों के साथ जो हो रहा है, वह बेहद दुखद है. भारत के विकास और प्रगति में उनके द्वारा किए गए अपार योगदान को देखते हुए अमरिंदर ने कानूनों को तत्काल रद्द करने का आह्वान किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र ने उन्हें पिछले नवंबर में पंजाब के किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए कहा था, मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया था, क्योंकि विरोध किसानों का लोकतांत्रिक अधिकार है.

    उन्होंने कहा कि ‘उन्हें विरोध क्यों नहीं करना चाहिए? मैं उन्हें कैसे रोक सकता हूं.’ उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि वह कानूनों के खिलाफ लड़ाई में किसानों के साथ खड़े हैं, उनकी सरकार ने मृतक किसानों के परिवारों को मुआवजा और नौकरी देना जारी रखा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज