• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • कैप्टन का सुखबीर बादल को जवाब- कृषि कानूनों के झगड़े की जड़ तो आप खुद हो

कैप्टन का सुखबीर बादल को जवाब- कृषि कानूनों के झगड़े की जड़ तो आप खुद हो

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सुखबीर सिंह बादल पर किया बड़ा हमला.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सुखबीर सिंह बादल पर किया बड़ा हमला.

पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कहा है कि बादल जहां इस सारी समस्या की जड़ हैं, वहीं केंद्र सरकार के किसान विरोधी एजेंडे की साजिश में भी उनकी मिलीभगत थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) द्वारा राज्य के नाराज किसानों (Farmer) के साथ बातचीत करने के लिए बनाए गए पैनल के बारे में पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कहा है कि बादल जहां इस सारी समस्या की जड़ हैं, वहीं केंद्र सरकार के किसान विरोधी एजेंडे की साजिश में भी उनकी मिलीभगत थी. उन्होंने कहा कि किसानों के प्रति अकालियों के रवैए की मिसाल तो इस बात से मिल जाती है कि सुखबीर प्रदर्शनकारियों को किसान मानने से ही इंकार कर रहे है.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि सुखबीर बादल एक किसान को पहचान तक नहीं सकते तो फिर किसानों का भरोसा और विश्वास हासिल करने की उम्मीद कैसे रख सकते है. उन्होंने कहा कि सिर्फ पंजाब की धरती का सच्चा पुत्र ही अपने लोगों और उनकी दुख-तकलीफों का असली हमदर्द हो सकता है. कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सुखबीर बादल द्वारा शिरोमणि अकाली दल के चुनावी प्रोग्रामों को रद्द कर देने और किसानों के साथ बातचीत चलाने के लिए पैनल का गठन किए जाने को साल 2022 की विधान सभा चुनावों से पहले पंजाब के वोटरों को रिझाने का बौखलाहट भरा कदम बताया है.

    इसे भी पढ़ें :-Punjab Congress Update: ‘मैं यह नहीं कहूंगा कि सब ठीक है’, पंजाब कांग्रेस पर हरीश रावत ने दिया बड़ा बयान

    उन्होंने कहा कि किसान और पंजाब के लोग मूर्ख नहीं हैं और उन्हें झूठों वादों से मूर्ख बनाने की आपकी कोशिशें उल्टा आपको ही भुगतनी होगी. उन्होंने कहा कि राज्य ने आपको पूरी तरह और स्पष्ट रूप से नकार दिया, क्योंकि आप पहले तो भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर 10 साल राज्य को लूटा और उसके बाद किसानों पर कृषि कानून जबरन थोपने में भी आप भाजपा के साथ रहे.

    इसे भी पढ़ें :- सुखबीर सिंह बादल के कार्यक्रम में किसानों का प्रदर्शन, BJP बोली- अब इसे क्‍या कहेंगे?

    मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि कानूनों की समूची वैधानिक प्रक्रिया के मौके पर शिरोमणि अकाली दल, केंद्र में एन.डी.ए. सरकार का अटूट अंग था और हरसिमरत बादल, केंद्रीय मंत्रालय का हिस्सा थीं. जिसने अध्यादेशों को मंज़ूरी दी. उन्होंने कहा कि अकाली दल की एन.डी.ए. से अलग होने की नौटंकी आंखों में धूल झोंकने की कोशिश से अधिक कुछ भी नहीं है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज