उत्तर प्रदेश और राजस्थान से सस्ता गेहूं लाकर पंजाब में MSP पर बेचने वाली दो फर्मों पर केस दर्ज

UP और राजस्थान से लाई गई गेहूं

UP और राजस्थान से लाई गई गेहूं

पंजाब राज्य की मंडियों में एमएसपी (Minimum Support Price) पर बेचने की कोशिश कर रही तीन फर्मों के विरुद्ध विजिलेंस विभाग ने मामला दर्ज किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2021, 12:20 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. अन्य राज्यों से गेहूं लाकर पंजाब राज्य की मंडियों में एमएसपी (Minimum Support Price) पर बेचने की कोशिश कर रही तीन फर्मों के विरुद्ध विजिलेंस विभाग ने मामला दर्ज किया है. बठिंडा की दाना मंडी में स्थित मैस: बाबू राम, अशोक कुमार और लक्षमी ऑयल मिल (M/s Babu Ram Ashok Kumar and Lakshmi Oil Mill) पर 8000 के करीब गेहूं के बोरे पड़े हुए थे.

जिस पर वहां मौजूद लेबर से पूछताछ की गई तो यह पता लगा कि यह गेहूं उत्तर प्रदेश और राजस्थान (Uttar Pradesh and Rajasthan) से कम दाम पर खरीद कर लाई गई है और यहां एम.एस.पी. पर बेची जानी है. इसके अलावा इन दोनों फर्मों के गोदामों से 17000 गेहूं के बोरे बरामद किए गए हैं. इसके अलावा फिरोजपुर जि़ले की बुगा मंडी में स्थित कृष्ण ट्रेनिंग कंपनी के पास से भी 8000-9000 बोरे बरामद हुए हैं.

गेहूं की कालाबाजारी के लिए विशेष टीमें गठित

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशु (Food and Supplies Minister Bharat Bhushan Ashu) ने बताया कि विभाग की टीम द्वारा तुरंत कार्यवाही करते हुए तीनों फर्मों के विरुद्ध पर्चे दर्ज करवा दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि राज्य में किसी भी व्यापारी और कर्मचारी द्वारा गेहूं की खरीद में की गई हेरा-फेरी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पंजाब सरकार द्वारा नकली बिलिंग के मामलों को सख्ती से निपटने के लिए जीरो टोलरेंस की नीति अपनाई जाएगी.
उन्होंने कहा कि राज्य के सभी जिला कंट्रोलरों और जिला मंडी अधिकारियों को स्पष्ट हिदायतें दी गई हैं कि अन्य राज्यों से कम दाम पर गेहूं खरीद कर राज्य में एमएसपी पर बेचने के लिए ला जा रहे ट्रक पर कड़ी नजर रखी जाए और तुरंत कारवाही की जाए.



उन्होंने बताया कि इसके लिए विशेष टीमों का गठन किया गया है. यदि कोई व्यक्ति अन्य राज्यों से कम दाम पर खरीद कर लाई गई गेहूं को राज्य में लाई जाती है तो उसे उतरने नहीं दिया जाएगा. अन्य राज्यों से आने वाली सडकों पर पुलिस के विशेष नाके स्थापित किए जाएंगे. जिससे अन्य राज्यों से कम दाम पर गेहूं खरीद कर लाने वाले ट्रकों को रोका जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज