अपना शहर चुनें

States

Kisan Aandolan: ट्रैक्टर परेड में शामिल होगी AAP, भगवंत मान का ऐलान- MLA करेंगे जत्थों की अगुआई

पंजाब के AAP नेता और सांसद भगवंत मान ने किसानों के ट्रैक्टर मार्च में शामिल होने का किया ऐलान.
पंजाब के AAP नेता और सांसद भगवंत मान ने किसानों के ट्रैक्टर मार्च में शामिल होने का किया ऐलान.

Punjab News: आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता और सांसद भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने कहा कि शांतिपूर्ण ढंग के साथ ट्रैक्टर मार्च निकालना किसानों का संवैधानिक हक है. पार्टी के कार्यकर्ता इसमें वॉलंटियर के रूप में शामिल होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 9:12 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. आम आदमी पार्टी (AAP) ने 26 जनवरी को किसानों की तरफ से गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में होने वाली ट्रैक्टर परेड में शामिल होने का ऐलान किया. पंजाब आम आदमी पार्टी के राज्य अध्यक्ष और सांसद भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने कहा कि ‘आप ’ के वालंटियर हर गांवों से ट्रैक्टर लेकर इस परेड में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर परेड में शामिल होने वाले जत्थों का नेतृत्व पार्टी के विधायक करेंगे. भगवंत मान ने बताया कि इस आंदोलन (Kisan Andolan) में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता किसी राजनैतिक तौर पर नहीं, बल्कि पार्टी के वालंटियर एक किसान और कामगार होने के नाते इस में शामिल होंगे. उन्होंने कि ‘आप ’ एक आम व्यक्तियों की पार्टी है, जिसमें ज्यादातर किसान और कामगार हैं.

भगवंत मान ने कहा कि अपने हकों के लिए किसानों की तरफ से लड़ा जा रहा शांतिपूर्ण आंदोलन विश्व का सब से बड़ा आंदोलन बन गया है. यह लड़ाई सिर्फ काले कानूनों को रद्द कराने की नहीं है, बल्कि देश के संविधान को बचाने की भी है. शांतिपूर्ण ढंग के साथ ट्रैक्टर मार्च निकालना किसानों का संवैधानिक हक है, जिसको सरकार छीनने का प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि जिस तरह केंद्र की मोदी सरकार पिछले लम्बे समय से संवैधानिक हकों पर डाका डाल संविधान के विरुद्ध काम कर रही है, वह देश के लिए बहुत खतरनाक है. मान ने कहा कि अपनी हिटलरशाही के चलते मोदी सरकार किसानों के आंदोलन को कुचलने के लिए तरह-तरह की चालें चल रही है.





कॉर्पोरेट घरानों को जनता की संपत्ति बेचने का आरोप
आप नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि कि मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद देश की जनता की संपति पहले कॉर्पोरेट घरानों को बेच दी, अब लोगों की जमीनें छीनने के लिए काले कानून लाकर मुट्ठी भर लोगों को सरकार गुलाम बनाने की साजिश रही है. हैरत जताते हुए उन्होंने कहा कि हैरानी की बात है कि प्रजातांत्रिक ढंग के साथ चुनी गई सरकार लोगों की बात सुनने के बजाय अडानी-अम्बानी के लिए काम कर रही है. आम आदमी पार्टी केंद्र सरकार की तरफ से लाए गए खेती के काले कानूनों का पहले दिन से विरोध करती आ रही है.

कानूनों को तुरंत रद्द करे सरकार
उन्होंने कहा कि राजनीति से ऊपर उठकर पार्टी का देश के अन्नदाता के संघर्ष का समर्थन करना हमारा प्रारंभिक कर्त्तव्य है, जिसे निभाने के लिए हर संभव प्रयास करते हुए पार्टी के कार्यकर्ता किसान आंदोलन के समर्थन में डटे हुए हैं. भगवंत मान ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार को अड़ियल रवैया छोड़कर तीनों काले कानूनों को तुरंत रद्द करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज