सतलुज यमुना लिंक मुद्दे को लेकर आज नरेंद्र मोदी से मिलेंगे अमरिंदर सिंह

हरियाणा सतलुज यमुना लिंक (एसवाईएल) के मुद्दे को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दोनों राज्यों के साथ कोर्ट के बाहर मीटिंग करने को कहा है.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 4:54 AM IST
सतलुज यमुना लिंक मुद्दे को लेकर आज नरेंद्र मोदी से मिलेंगे अमरिंदर सिंह
सतलुज यमुना लिंक मुद्दे को लेकर नरेंद्र मोदी से मिलेंगे अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 4:54 AM IST
हरियाणा सतलुज यमुना लिंक (एसवाईएल) के मुद्दे को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दोनों राज्यों के साथ कोर्ट के बाहर मीटिंग करने को कहा है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट हरियाणा के पक्ष में अपना फैसला सुना चुका है. मुलाकात में गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के कार्यक्रम को लेकर भी बातचीत होने की संभावना है.

इससे पहले अमरिंदर सिंह ने एसवाईएल मुद्दे पर कहा कि पंजाब के पास पानी की कमी है, साथ ही उन्होंने एसवाईएल के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के दिए गए निर्देश का भी स्वागत किया. कैप्टन ने उम्मीद जताई है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार पंजाब और हरियाणा के अधिकारियों की बनाई जाने वाली कमेटी, पंजाब में पानी के गंभीर संकट का स्थायी और न्यायपूर्ण समाधान करेगी.

अमरिंदर सिंह ने यह भी दोहराया कि अगर पंजाब के पास ज्यादा पानी होता तो किसी के साथ भी पानी बांटने की समस्या नहीं होती. सुप्रीम कोर्ट के मंगलवार को दिए गए फैसले की प्रति गुरुवार को पंजाब सरकार को मिल चुकी है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कैप्टन ने कहा कि बातचीत ही मामले के समाधान का एकमात्र रास्ता है.

रेगिस्तान बन जाने की चुनौती का सामना कर रहा है पंजाब

मुख्यमंत्री ने दोहराया कि अगर पंजाब के पास काफी मात्रा में पानी होता तो उन्हें पानी बांटने में कोई समस्या नहीं होती. दुर्भाग्य से पंजाब में पानी की स्थिति गंभीर है. सूबे में भूगर्भजल का स्तर तेजी से गिर रहा है और पंजाब रेगिस्तान बन जाने की चुनौती का सामना करना पड़ रहा है.

रिपोर्ट- पंकज कपाही 

ये भी पढ़ें-
Loading...

First published: July 15, 2019, 4:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...