अपना शहर चुनें

States

पंजाब कैबिनेट में मिलेगी नवजोत सिंह सिद्धू को जगह! सीएम के साथ लंच के बाद अटकलें हुई तेज

कैप्टन और सिद्धू की लंच में मुलाकात (फोटो साभारः ट्विटर/@RT_MediaAdvPbCM)
कैप्टन और सिद्धू की लंच में मुलाकात (फोटो साभारः ट्विटर/@RT_MediaAdvPbCM)

Amarinder Singh Meets Navjot Sidhu: मुख्यमंत्री और सिद्धू की इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने एक ट्वीट में कहा, यह एक जोशपूर्ण और सौहार्दपूर्ण बैठक रही, जिसमें मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब के महत्वपूर्ण राजनीतिक मामलों और राष्ट्रीय हितों पर चर्चा की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 10:46 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) से मुलाकात की. पंजाब कैबिनेट में फेरबदल की संभावना के साथ आगामी मंत्रिमंडल विस्तार से पहले मुख्यमंत्री ने सिद्धू को लंच के लिए आमंत्रित किया था. सिद्धू और कैप्टन की इस मुलाकात के बाद अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. ऐसा माना जा रहा है कि कैप्टन आगामी मंत्रिमंडल विस्तार में सिद्धू को जगह दे सकते हैं.

मुख्यमंत्री और सिद्धू की इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने एक ट्वीट में कहा, यह एक जोशपूर्ण और सौहार्दपूर्ण बैठक रही, जिसमें मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब के महत्वपूर्ण राजनीतिक मामलों और राष्ट्रीय हितों पर चर्चा की. दोनों नेताओं ने महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार साझा करते हुए एक घंटे से अधिक समय बिताया.

कैप्टन को सिद्धू ने बताया छोटा भाई
सिद्धू को दोबारा से पंजाब कैबिनेट में शामिल होने वाली खबरों को इसलिए भी बल मिल रहा है क्योंकि कैप्ट ने कुछ वक्त पहले ही कहा था कि नवजोत सिंह सिद्धू उनके छोटे भाई हैं और आज भी उनका विभाग खाली है. लेकिन बड़ा सवाल यही है कि क्या नवजोत सिंह सिद्धू जिस विभाग को एक साल पहले अस्वीकार करके कैबिनेट से बाहर हो गए थे उसे फिर से स्वीकारेंगे या फिर नहीं.




2019 में आई थी कैप्टन और सिद्धू के बीच दूरियां
मुख्यमंत्री ने पिछले साल मई में सिद्धू पर स्थानीय सरकार विभाग को सही तरीके से नहीं संभाल पाने का आरोप लगाते हुए दावा किया था कि इसके कारण 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने शहरी इलाकों में खराब प्रदर्शन किया. इसके बाद से दोनों नेताओं के संबंधों में तनाव पैदा हो गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज