अपना शहर चुनें

States

मोबाइल टावर मामले पर BJP नेता तरुण चुघ ने कैप्टन सरकार पर साधा निशाना, कहा- यह अर्बन नक्सलवाद

केंद्र सरकार के कृषि विरोधी कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ आंदोलन के बीच पंजाब में मोबाइल टावरों (Mobile Tower) को क्षति पहुंचाने को लेकर बीजेपी नेता तरुण चुघ (Tarun Chugh) ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amrinder Singh) पर साधा निशाना.
केंद्र सरकार के कृषि विरोधी कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ आंदोलन के बीच पंजाब में मोबाइल टावरों (Mobile Tower) को क्षति पहुंचाने को लेकर बीजेपी नेता तरुण चुघ (Tarun Chugh) ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amrinder Singh) पर साधा निशाना.

केंद्र सरकार के कृषि विरोधी कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ आंदोलन के बीच पंजाब में मोबाइल टावरों (Mobile Tower) को क्षति पहुंचाने को लेकर बीजेपी नेता तरुण चुघ (Tarun Chugh) ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amrinder Singh) पर साधा निशाना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2020, 5:43 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. भाजपा महासचिव तरुण चुघ (Tarun Chugh) ने प्रदर्शनकारी किसानों द्वारा पंजाब में दूरसंचार सेवा कथित तौर पर जबर्दस्ती बाधित किए जाने को लेकर शनिवार को राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा. चुघ ने कहा कि कैप्टन सरकार कानून व्यवस्था कायम रखने में असफल रही है. चुघ ने एक बयान में कहा, 'मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह राज्य में कानून व्यवस्था कायम रखने में पूरी तरह से असफल रहे हैं.' चुघ ने आरोप लगाया कि किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के नाम पर पंजाब में अर्बन नक्सलवाद पनपने दिया जा रहा है. हालांकि इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने भाजपा के नेताओं के बयानों की निंदा की. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Capt Amrinder Singh) ने कहा कि बीजेपी के नेता किसानों को अर्बन नक्सली और बदमाश जैसे नामों से बदनाम करने की चाल बंद करें.

पंजाब के सीएम पर हमला करते हुए बीजेपी के नेता तरुण चुघ ने बयान में कहा कि पंजाब में दो दर्जन से ज्यादा स्थानों पर मोबाइल टावर की लाइनों को उखाड़कर उनका बिजली कनेक्शन काटने का प्रयास अर्बन नक्सलों की हरकत है. चुघ ने सवाल पूछा कि क्या मुख्यमंत्री ने पंजाब में नक्सल ताकतों के साथ मिलकर कानून व्यवस्था को ध्वस्त करने के लिए समाज विरोधी ताकतों से हाथ मिला लिया है. उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हो रहे लगातार हमलों से हम डरने वाले नहीं हैं.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा समेत देश के कई राज्यों के किसान महीनेभर से ज्यादा समय से दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं. इस दौरान प्रदर्शनकारी किसानों द्वारा पंजाब के कई हिस्सों में मोबाइल टावर की बिजली आपूर्ति कथित तौर पर बाधित किए जाने की खबरें आई. बताया गया कि किसानों ने पंजाब में 1,500 से अधिक मोबाइल टावर को अपना निशाना बनाया है, जिससे राज्य में दूरसंचार सेवाएं प्रभावित हुई हैं. इन खबरों के बीच मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को किसानों से ऐसी गतिविधियों से आम लोगों को असुविधा उत्पन्न नहीं किए जाने की अपील की थी. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बीते दिनों पुलिस को मोबाइल टावरों को निशाना बनाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया था.



पंजाब के 22 जिलों में कुल 21,306 मोबाइल टावर हैं. सोमवार को जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि अब तक 1,561 मोबाइल टावरों को निशाना बनाया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वह राज्य में किसी भी कीमत पर अराजकता की स्थिति पैदा नहीं होने देंगे और किसी को कानून को अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी. सिंह ने कहा कि उन्होंने इस बारे में कई बार अपील की, लेकिन इसे नजरअंदाज किया गया. इस वजह से उन्हें अपना रुख सख्त करना पड़ रहा है. (इनपुट- भाषा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज