होम /न्यूज /पंजाब /BJP में शामिल होने के बाद भी 'अग्निपथ योजना' के विरोध में कैप्टन, मोदी सरकार को दी ये सलाह

BJP में शामिल होने के बाद भी 'अग्निपथ योजना' के विरोध में कैप्टन, मोदी सरकार को दी ये सलाह

News18 को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने केंद्र सरकार को अग्निपथ योजना की समीक्षा करने का सुझाव दिया है. (फाइल फोटो)

News18 को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने केंद्र सरकार को अग्निपथ योजना की समीक्षा करने का सुझाव दिया है. (फाइल फोटो)

Captain Amarinder Singh: पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अब भाजपा के एकमात्र ऐसे नेता बन गए हैं जो अभी भी केंद् ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

कैप्टन ने सरकार को अग्निपथ योजना की समीक्षा करने का सुझाव दिया है.
उन्होंने कहा कि एक सैनिक के लिए चार साल की सेवा बहुत कम है.
19 सितंबर को BJP में शामिल हुए थे पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह.

(एस. सिंह)

चंडीगढ़. पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा के एकमात्र ऐसे नेता बन गए हैं जो अभी भी केंद्र सरकार द्वारा लायी गई ‘अग्निपथ योजना’ का विरोध कर रहे हैं. News18 को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने केंद्र सरकार को अग्निपथ योजना की समीक्षा करने का सुझाव दिया है. उन्होंने कहा कि यह रेजिमेंटों में लंबे समय से विद्यमान विशिष्ट लोकाचार को कमजोर करेगी. कैप्टन ने एक बार फिर कहा कि एक सैनिक के लिए चार साल की सेवा बहुत कम है. उन्होंने कहा कि सिख रेजिमेंट, डोगरा रेजिमेंट, मद्रास रेजिमेंट आदि जैसी विभिन्न रेजिमेंट का अपना अलग लोकाचार है. जो सैन्य दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है और ऐसा लगता है कि इसे नजरअंदाज कर दिया गया है.

उन्होंने आगे कहा कि चार साल में छुट्टी व प्रशिक्षण की अवधि को छोड़ दिया जाए तो यह प्रभावी रूप से तीन साल से कम हो जाता है. पूर्व सीएम ने कहा कि अलग-अलग सांस्कृतिक पृष्ठभूमि के रंगरूटों के लिए इतने कम समय के भीतर एक विशेष रेजिमेंट के भिन्न वातावरण में समायोजित करना मुश्किल होगा.

गौरतलब है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और पंजाब लोक कांग्रेस (पीएलसी) के प्रमुख कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने समर्थकों के साथ 19 सितंबर को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हो गए. इसके साथ ही उन्होंने अपनी नवगठित पार्टी पीएलसी का बीजेपी में विलय भी कर दिया है. भाजपा में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राज्य में भाजपा इकाई के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा जो भी करने को कहेंगे, वह करेंगे.

एक्सपर्ट का मानना है कि हाल ही में जब कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल हुए थे तब उन्हें बहुत ज्यादा तवज्जो नहीं दी गई थी. उनके बीजेपी में शामिल होने के समय भाजपा कार्यालय में गृह मंत्री और जेपी नड्डा मौजूद थे. बावजूद इसके वे उनके भाजपा में शामिल होने के समारोह में नहीं पहुंचे थे.

Tags: Agneepath, Captain Amarinder Singh, Modi government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें