Home /News /punjab /

पूर्व CJI गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर कैप्टन अमरिंदर ने उठाए सवाल

पूर्व CJI गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर कैप्टन अमरिंदर ने उठाए सवाल

कैप्टन अमरिंदर सिंह(फाइल फोटो)

कैप्टन अमरिंदर सिंह(फाइल फोटो)

कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कहा, 'पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया जाना स्पष्ट संकेत करता है कि वह केंद्र की मौजूदा सरकार के लिए उपयोगी रहे थे.’

    चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई को राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किये जाने पर गुरुवार को सवाल उठाए. कैप्टन अमरिंदर ने कहा, ‘इससे स्पष्ट संकेत मिलता है कि वह केंद्र की मौजूदा सरकार के लिए उपयोगी रहे थे.’

    अमरिंदर ने कहा कि गोगोई को मनोनीत किये जाने से लोग निश्चित तौर पर आश्चर्यचकित होंगे और प्रतिक्रिया देंगे. उन्होंने कहा, ‘कोई भी विवेकी व्यक्ति सरकार के इस तरह के कदम के खिलाफ होगा.’ कैप्टन ने कहा, ‘यह (राज्यसभा में गोगोई का मनोनयन) स्पष्ट संकेत करता है कि वह केंद्र की मौजूदा सरकार के लिए उपयोगी रहे थे.’

    राजनीतिक फायदे के लिए नहीं कर सकते संस्थाओं का इस्तेमाल
    उन्होंने राज्य में कांग्रेस सरकार के तीन साल पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि सरकारों को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी, वे ‘राजनीतिक फायदे’ के लिए संस्थाओं का इस्तेमाल नहीं कर सकते, जैसा कि गोगोई के मनोयन किये जाने के मामले में प्रतीत होता है.

    मुख्यमंत्री ने गोगोई के सेवानिवृत्त होने के बाद छह महीने से भी कम समय के अंदर भाजपा नीत सरकार द्वारा उनके मनोनयन और पूर्व सीजेआई रंगनाथ मिश्रा के इसी पद से सेवानिवृत्त होने के कई साल बाद कांग्रेस के टिकट पर राज्यसभा के लिए निर्वाचित होने के बीच अंतर होने का भी उल्लेख किया. उन्होंने कहा, ‘गोगोई के उलट, मिश्रा ने राज्यसभा में जाने के लिए चुनाव लड़ा था, और वह भी सीजेआई के तौर पर सेवानिवृत होने के करीब सात साल बाद.’

    4-5 साल बाद गोगोई को लड़ना था चुनाव
    अमरिंदर सिंह ने इस बात का जिक्र किया कि पूर्व रक्षा कर्मी, पूर्व न्यायाधीश और अन्य अक्सर ही राजनीति में जाते हैं तथा चुनाव लड़ते हैं. उन्होंने कहा कि पूर्व थल सेना प्रमुख जेजे सिंह को पंजाब के पिछले विधानसभा चुनाव में अकालियों ने उनके खिलाफ उतारा था. उन्होंने कहा कि गोगोई भी राजनीति में जाने के हकदार हैं लेकिन उन्हें सेवानिवृत्ति के चार-पांच साल बाद चुनाव का सामना करना चाहिए था.

    उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने सेवानिवृत न्यायाधीशों को भले ही विभिन्न आयोगों में नामित किया हो, उनका कोई राजनीतिक या सरकार के प्रति झुकाव नहीं था, लेकिन वह स्पष्ट करना चाहते हैं कि वह किसी मुख्य न्यायाधीश के लिए ऐसा नहीं करना चाहेंगे जैसा कि संभवत: गोगोई के लिए किया गया है.

    ये भी पढ़ें :-

    Tags: Captain Amarinder, CJI Ranjan Gogoi, Justice Ranjan Gogoi, Rajya sabha

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर