CM अमरिंदर ने किया स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी पटियाला में मिल्‍खा सिंह चेयर स्थापित करने का ऐलान

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि साल 1960 में लाहौर में जीत हासिल करना मिल्‍खा सिंह के लिए स्मरणीय अवसर था.

Milkha Singh News: मुख्यमंत्री ने इससे पहले सम्मान के तौर पर पद्मश्री मिल्‍खा सिंह का अंतिम संस्कार सरकारी सम्मान के साथ करने और एक दिन की छुट्टी का ऐलान किया था.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (CM Captain Amarinder Singh) ने शनिवार को महान एथलीट की याद में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी पटियाला में मिल्‍खा सिंह चेयर (Milkha Singh Chair) स्थापित करने का ऐलान किया है. उन्होंने फ्लाइंग सिख (Flying Sikh) के चंडीगढ़ स्थित आवास पर जाकर प्रसिद्ध खेल शख़्सियत को श्रद्धा के फूल भेंट किए. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि मिलखा सिंह की यादें सदा के लिए युवा पीढ़ी को प्रेरित करती रहें.

    मुख्यमंत्री ने इससे पहले सम्मान के तौर पर पद्मश्री मिल्‍खा सिंह का अंतिम संस्कार सरकारी सम्मान के साथ करने और एक दिन की छुट्टी का ऐलान किया था. उन्होंने कहा कि महान भारतीय खिलाड़ी की शानदार विरासत हमेशा ही लोगों के दिलों में बसी रहेगी. सीएम ने कहा कि मिल्‍खा सिंह के चले जाने से समूचे देश को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है और हम सभी के लिए यह बहुत ही दुखद पल हैं.

    ये भी पढ़ें: Milkha Singh: प्रसून जोशी ने फ्लाइंग सिख को किया याद, साझा किए 'भाग मिल्खा भाग' के किस्से

    ये भी पढ़ें: 'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह पंचतत्व में विलीन, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

    मिल्‍खा सिंह द्वारा साल 1960 में पाकिस्तानी चैंपियन अब्दुल खालिक को लाहौर में हराने के बाद समकालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय जवाहर लाल नेहरू द्वारा राष्ट्रीय छुट्टी घोषित किए जाने को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने भावुक होते हुए कहा कि उनकी इच्छा थी वह भी आज राष्ट्रीय छुट्टी का ऐलान कर सकते. उन्होंने कहा कि परन्तु पंजाब में महान हस्ती के चले जाने के शोक में झंडा आधा झुका रहेगा और राज्य में छुट्टी रहेगी.

    महान एथलीट के घर के बाहर पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि साल 1960 में लाहौर में जीत हासिल करना मिल्‍खा सिंह के लिए स्मरणीय अवसर था जिन्होंने भारत के विभाजन के समय पाकिस्तान में अपना परिवार खो दिया था. इस जीत के बाद पाकिस्तान के समकालीन राष्ट्रपति जनरल आयूब ख़ान ने मिल्‍खा सिंह को 'फ्लाइंग सिख' का नाम दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.