लाइव टीवी

CAA पर संग्राम, CM अमरिंदर ने सुखबीर सिंह बादल को भेजी हिटलर की आत्मकथा 'मीन कैम्फ'

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 6:08 PM IST
CAA पर संग्राम, CM अमरिंदर ने सुखबीर सिंह बादल को भेजी हिटलर की आत्मकथा 'मीन कैम्फ'
पंजाब सरकार ने मंगलवार को कहा था कि वह सीएए, एनआरसी और एनपीआर के मुद्दे पर सदन की भावना के अनुसार आगे बढ़ेगी. (फाइल फोटो)

अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने कहा कि केंद्र द्वारा हिटलर के एजेंडे को दोहराने के मौजूदा प्रयासों को देखते हुए शिरोमणि अकाली दल के नेताओं को 'मीन कैम्फ' (Mein Kampf) पढ़ना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 6:08 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने बुधवार को शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) को जर्मन तानाशाह एडॉल्फ हिटलर की आत्मकथा 'मीन कैम्फ' (Mein Kampf) की एक प्रति भेजी. सीएम ने उन्हें आत्मकथा को पढ़ने के लिए सलाह दी ताकि वे इसके खतरनाक प्रभावों को समझ सकें. कैप्टन ने केंद्र सरकार की ओर से पारित नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को असंवैधानिक बताते हुए कहा कि अकाली भी केंद्र सरकार में एक हिस्सा हैं.

सीएम बोले- अकाली दल प्रमुख को हिटलर की आत्मकथा पढ़नी चाहिए

कैप्टन ने कहा कि केंद्र द्वारा हिटलर के एजेंडे को दोहराने के मौजूदा प्रयासों को देखते हुए शिरोमणि अकाली दल के नेताओं को इसे पढ़ना चाहिए. कैप्टन ने कहा कि सुखबीर बादल सहित विभिन्न अकाली नेताओं के हालिया बयानों ने इस संवेदनशील मुद्दे पर उनकी अज्ञानता को स्पष्ट रूप से उजागर किया है.
amarinder singh

अकाली दल ने लोकसभा और राज्यसभा में CAA का किया था समर्थन

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ओर तो संसद के दोनों सदनों में अकाली दल की ओर से सीएए का समर्थन कर दिया गया है और अब सदन से बाहर इस बात की पैरवी की जा रही है कि मुस्लिमों को भी इस कानून में शामिल किया जाना चाहिए था.

सुखबीर ने कैप्टन बताया था को सिख विरोधीकैप्टन ने सुखबीर बादल के उस बयान का जवाब दिया है, जिसमें सुखबीर ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को सिख विरोधी बताते हुए कहा था कि सीएए में सिख शरणार्थियों को नागरिकता मिलने का प्रावधान है और सीएए का विरोध करके कैप्टन अपनी और कांग्रेस की एंटी सिख छवि को सामने ला रहे हैं. गांधी परिवार के इशारे पर कैप्टन नहीं चाहते कि सिख शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिल सके.

कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि क्या पूरे देश में जो प्रदर्शन हो रहे हैं वो सब प्रदर्शनकारी क्या गांधी परिवार के अधीन है और क्या गांधी परिवार के इशारे पर ही प्रदर्शन कर रहे हैं? कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि ये कानून असंवैधानिक है, इसी वजह से देश की यूनिवर्सिटियों से लेकर सड़क तक इस कानून का विरोध हो रहा है.

 

ये भी पढ़ें-

 

कैप्टन सरकार को झटका! DGP गुप्‍ता की नियुक्ति के खिलाफ दायर याचिका स्वीकार

कांग्रेस ने भंग की पंजाब कांग्रेस कमेटी, अध्यक्ष बने रहेंगे सुनील जाखड़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 5:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर