लाइव टीवी

प्रकाश सिंह बादल बोले- 1984 के दंगे कांग्रेस की देन, राजीव गांधी ने दिए थे कत्लेआम के आदेश
Chandigarh-Punjab News in Hindi

News18Hindi
Updated: September 3, 2018, 7:34 PM IST
प्रकाश सिंह बादल बोले- 1984 के दंगे कांग्रेस की देन, राजीव गांधी ने दिए थे कत्लेआम के आदेश
पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल (फाइल)

'News18 पंजाब' के सीनियर एडिटर रितेश लक्खी से खास बातचीत में प्रकाश सिंह बादल ने कांग्रेस पार्टी पर कई संगीन आरोप लगाए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2018, 7:34 PM IST
  • Share this:
(रितेश लक्खी, सीनियर एडिटर, News18 पंजाब) 

पंजाब के कोटकपुरा और बहबल कलां में साल 2015 में हुए प्रदर्शन के दौरान हुई गोलीबारी में सिख समुदाय के दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई थी. 26 अगस्त को इसकी जांच रिपोर्ट पंजाब
विधानसभा में पेश की गई, जिस पर 28 अगस्त को बहस हुई. कांग्रेस ने इस रिपोर्ट को लेकर पिछली अकाली सरकार और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर हमले किए हैं. जिसके बाद पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने 1984 के दंगों को लेकर कांग्रेस पर पलटवार किया है.

'News18 पंजाब' के सीनियर एडिटर रितेश लक्खी से खास बातचीत में प्रकाश सिंह बादल ने कांग्रेस पार्टी पर कई संगीन आरोप लगाए हैं. 1984 के सिख दंगों को ज़िक्र करते हुए बादल ने कहा, 'दुनिया जानती है कि कांग्रेस का इतिहास सिख विरोधी रहा है. 1984 के दंगे कांग्रेस की ही देन है. राजीव गांधी ने सिखों के कत्लेआम के आदेश दिए थे.'

पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने कहा, 'कांग्रेस हर मुद्दे पर लोगों को गुमराह कर रही है. इंदिरा गांधी ने सिखों के पवित्र स्थान पर हमला करवाया. नेहरू ने कहा था कि पंजाब सूबा उनकी लाश पर बनेगा. दंगों के लिए कोई चार लोग नहीं, बल्कि पूरी कांग्रेस गुनहगार है.'


कोई जीते कोई हारे... बादल का अपना रिकॉर्ड बरकरार

2015 में कोटकपुरा और बहबल कलां में हुए प्रदर्शन के दौरान गोलीबारी पर प्रकाश सिंह बादल ने कहा, 'बेअदबियों की वजह से हर सिख दुखी था. कांग्रेस के वक्त में भी बेअदबियां हो रही हैं. बहबल कलां के बारे में ना मुझे ना प्रशासन को कोई खबर थी. विरोधी कोटकपुरा और बहबल कलां को जोड़ कर पेश कर रहे हैं. मैं विरोधियों से कहना चाहता हूं कि धार्मिक मामले को सियासी रंग नहीं दे.'
खुद पर लग रहे आरोपों को खारिज करते हुए बादल ने कहा, 'जब रात 2 बजे बात हुई, तो तब सिर्फ कोटकपुरा का मसला था. मैंने किसी भी प्रदर्शन को रोकने के लिए बल प्रयोग करने का आदेश नहीं दिया. मैंने बातचीत से मामला सुलझाने की हिदायत दी थी. गोली चलाने का कोई भी आदेश नहीं दिया गया था. कोई भी मुख्यमंत्री गोली चलाने के आदेश नहीं दे सकता.'


बादल ने कहा, 'मैंने पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू के वक्त से कांग्रेस के खिलाफ लड़ाई लड़ी. मैं कायर नहीं हूं. मेरी ज़िंदगी एक खुली किताब है. सिख मुद्दों के लिए मैंने सबसे ज्यादा जेल काटी है. हम शांति के पक्षधर हैं. कांग्रेस की हिम्मत हो तो गोली चलवा दे, मैं नहीं डरने वाला.'

बेअंत के हत्यारे की फांसी रुकवाने सक्रिय हुए बादल
पूर्व सीएम बादल ने कांग्रेस पर एक बार फिर से आरोप लगाते हुए कहा, 'अकाली दल को फंसाने के लिए जांच कमीशन बनाया गया है. जस्टिस रंजीत सिंह का पहले से ही कांग्रेस की तरफ झुकाव रहा है. ऐसे में जांच रिपोर्ट में पक्षपात होने की पूरी आशंका है.'


बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को बरगाड़ी, कोटकपूरा गोलीकांड और अन्य मामलों की समयबद्ध जांच के लिए पंजाब पुलिस के विशेष जांच दल (एसआईटी) की घोषणा की है. उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि उनकी सरकार एसआईटी के निष्कर्षों और सिफारिशों के अनुसार बिना किसी देरी के तत्काल कार्रवाई करेगी, ताकि पीड़ितों को न्याय मिल सके.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2018, 5:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर