कोरोना संकट: पंजाब सरकार ने सचिवालय में आम जनता के प्रवेश पर लगाई रोक
Chandigarh-Punjab News in Hindi

कोरोना संकट: पंजाब सरकार ने सचिवालय में आम जनता के प्रवेश पर लगाई रोक
पंजाब सरकार ने सचिवालय में आम जनता के प्रवेश पर लगाई रोक (फाइल फोटो)

पंजाब (Punjab) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 7000 से अधिक मामले सामने आये हैं और 183 मरीजों की मौत हो चुकी है.

  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब सरकार (Punjab Government) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रसार के मद्देनजर पंजाब सचिवालय एक और दो में आगंतुकों (आम जनता) के प्रवेश पर रोक लगा दी है. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. राज्य सरकार ने एक बयान में कहा कि सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव ने इस संबंध में एक आदेश पर हस्ताक्षर किया है. इसमें कहा गया है कि यह निर्णय कोविड-19 के बढ़ते प्रसार को देखते हुए लिया गया है.

बयान के अनुसार जनता द्वारा कोई परेशानी होने की स्थिति में अतिरिक्त सचिव प्रशासन से सम्पर्क किया जा सकता है. इसमें कहा गया है कि सभी नागरिकों से आग्रह किया जाता है कि वे कोविड-19 के प्रसार पर रोक के लिए सरकार के प्रयासों में सहयोग करें. उल्लेखनीय है कि पंजाब में कोविड-19 के 7000 से अधिक मामले सामने आये हैं और 183 मरीजों की मौत हो चुकी है.

इन शहरों में सामने आए कोरोना के मामले



स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, लुधियाना में कुल 57 नये मामले सामने आए, पटियाला में 42, जालंधर में 34, संगरूर में 16, अमृतसर में 14, मोहाली में 10, तरनतारन और फिरोजपुर में नौ-नौ, फतेहगढ़ साहिब में आठ, गुरदासपुर में सात, कपूरथला में पांच, एसबीएस नगर में चार, मोगा, रूपनगर, मुक्तसर, होशियारपुर में तीन-तीन, पठानकोट, मनसा और फरीदकोट में दो-दो और बठिंडा में एक मामला सामने आया है.
जालंधर सिविल सर्जन गुरविंदर कौर चावला ने कहा कि जालंधर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) और एसडीएम (शाहकोट) भी संक्रमित पाये गए हैं. एक सरकारी बयान में कहा गया है कि 11 पीसीएस (पंजाब सिविल सेवा) और अन्य वरिष्ठ अधिकारी पहले ही संक्रमित हो चुके हैं जिसमें संगरूर सिविल सर्जन शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading