पंजाब में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में 4798 नए केस और 176 लोगों की मौत

राज्य में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 53 हजार 127 हो गई है.

राज्य में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 53 हजार 127 हो गई है.

Covid cases in Punjab: पटियाला स्थित सरकारी राजिंदरा अस्पताल में ब्लैक फंगस के मरीजों की मौत का सिलसिला जारी है. मंगलवार को राजिंदरा में ब्लैक फंगस के एक और मरीज की मौत हो गई. अब मौत का कुल आंकड़ा छह हो गया है. इसके साथ ही निजी नर्सिंग होम में मंगलवार को ब्लैक फंगस के एक नए केस की पुष्टि सिविल सर्जन डॉ. सतिंदर सिंह ने की.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब में कोरोना वायरस (Covid cases in Punjab) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. मंगलवार को कोरोना से 176 लोगों की मौत हो गई, जबकि 4798 नए मामले सामने आए. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 53 हजार 127 हो गई है. इनमें से 386 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है. वहीं, 6357 संक्रमितों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रख गया है.

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में लुधियाना में 19, संगरूर में 17, अमृतसर में 16, बठिंडा में 14, पटियाला में 13, जालंधर में 12, मोहाली व मुक्तसर में 9-9,फिरोजपुर में 8, कपूरथला व फाजिल्का में 7-7, फरीदकोट व मानसा में 6-6, मोगा व गुरदासपुर में 5-5, पठानकोट, बरनाला व फतेहगढ़ साहिब में 4-4, होशियारपुर, नवांशहर व तरनतारन में 3-3 और रोपड़ में 2 संक्रमितों की मौत हो गई.

'हवा से फैलता है कोरोना वायरस'- सरकार ने जारी किए नए कोविड प्रोटोकॉल, स्टेरॉयड को लेकर भी सलाह

राजिंदरा में ब्लैक फंगस के एक और मरीज की मौत
उधर, पटियाला स्थित सरकारी राजिंदरा अस्पताल में ब्लैक फंगस के मरीजों की मौत का सिलसिला जारी है. मंगलवार को राजिंदरा में ब्लैक फंगस के एक और मरीज की मौत हो गई. अब मौत का कुल आंकड़ा छह हो गया है. इसके साथ ही निजी नर्सिंग होम में मंगलवार को ब्लैक फंगस के एक नए केस की पुष्टि सिविल सर्जन डॉ. सतिंदर सिंह ने की.

सीएमओ ने बताया कि अब राजिंदरा और निजी अस्पताल में 9 ब्लैक फंगस के मरीजों का इलाज चल रहा है. इसमें से पांच मरीज राजिंदरा और चार निजी अस्पताल में दाखिल हैं. सिविल सर्जन ने कहा कि मंगलवार को राजिंदरा में जिस ब्लैक फंगस के मरीज की मौत हुई, उसे कोविड संबंधी और भी कई समस्याएं थीं.

पंजाब में मिशन फतेह 2.0 चला रही कैप्टन सरकार



पंजाब में मिशन फतेह 2.0 (Mission Fateh 2.0) के पहले चार दिनों के दौरान आशा वर्करों ने 91.2 लाख आबादी को कवर करते हुए कुल 24.7 लाख घरों का सर्वेक्षण किया है. इस मिशन का उद्देश्य गांवों में रहने वाले हरेक व्यक्ति की जांच करना है. पंजाब के ग्रामीण इलाकों में मृत्यु दर शहरी इलाकों की अपेक्षा ज्यादा है. स्वास्थ्य विभाग कोरोना के लक्षणों वाले सभी व्यक्तियों की कोविड जांच को सुनिश्चित करने के लिए यह मुहिम चला रहा है.

COVID-19: ठीक होने के बाद भी लंबे वक्त तक परेशान कर सकता है कोरोना, ये लक्षण दिखें तो हो जाएं सावधान

गांवों में कोविड-19 के लिए कुल 65,126 व्यक्तियों का टेस्ट किया गया है, जिनमें से 2036 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं. घरेलू एकांतवास वाले सभी 1896 मरीजों को मिशन फतेह किटें (Mission Fateh kits) मुहैया करवाई गई हैं, जबकि 140 मरीजों को एल-2, एल-3 की सुविधा दी गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज