Covid-19 Vaccine: पंजाब को झटका! मॉडर्ना का राज्य को सीधे वैक्सीन बेचने से इनकार

मॉडर्ना की वैक्‍सीन (File pic)

मॉडर्ना की वैक्‍सीन (File pic)

Covid-19 Vaccine: 20 मई को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने अधिकारियों को वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर निकालने का आदेश दिया था. लिहाजा सरकार की तरफ से अलग-अलग कोविड टीकों की सीधी खरीद के लिए सम्पर्क किया गया.

  • Share this:

चंडीगढ़. देशभर में इन दिनों कोरोना की वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) को लेकर किल्लत है. कई राज्यों में 18-44 साल के लोगों के लिए चल रहे टीकाकरण अभियान को फिलहाल रोक दिया गया है. वैक्सीन की कमी को दूर करने के लिए पिछले दिनों कई राज्यों ने ग्लोबल टेंडर निकाले थे. लेकिन पंजाब सरकार की इस कोशिश को झटका लगा है. दरअसल अमेरिका की मॉडर्ना वैक्सीन ने राज्य को सीधे वैक्सीन बेचने से मना कर दिया है. कंपनी का कहना है कि वो वैक्सीन को लेकर कोई भी डील राज्य सरकारों से नहीं करती है बल्कि इसको लेकर बातचीत सिर्फ केंद्र से होगी.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए पंजाब सरकार की तरफ से नियुक्त वैक्सीनेशन नोडल अधिकारी विकास गर्ग ने बताया कि उन्होंने कंपनी को दो दिन पहले चिट्ठी लिखी थी. उन्होंने कहा, 'मॉडर्ना ने बताया है कि उनकी पॉलिसी के तहत वो किसी राज्य सरकार से सीधे बातचीत नहीं करते हैं. दुनिया भर मे वैक्सीन की कमी है. हमने वैक्सीन को लेकर कुछ और कंपनियों से भी संपर्क किया है. उनका जवाब आना फिलहाल बाक़ी है.'

ये भी पढ़ें:- कोविड से कर रहे हैं रिकवरी तो डाइट में जरूर शामिल करें पनीर, जानें इसके फायदे

सरकार का ग्लोबल टेंडर
बता दें कि 20 मई को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने अधिकारियों को वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर निकालने का आदेश दिया था. लिहाजा सरकार की तरफ से अलग-अलग कोविड टीकों की सीधी खरीद के लिए सम्पर्क किया गया. सरकार ने स्पूतनिक वी, फाईजर, मॉडरना और जॉनसन एंड जॉनसन के साथ संपर्क किया लेकिन अभी तक सिर्फ मॉडर्ना का जवाब आया है.


पंजाब में वैक्सीन की कमी



फाइज़र ने पिछले दिनों कहा था कि वो किसी दूसरे देश को सरकारी चैनल के जरिए ही वैक्सीन बेचेंगे चाहे वो राज्य सरकार हो या फिर केंद्र. पंजाब सरकार ने 1 हज़ार करोड़ रुपये वैक्सीन के लिए आवंटित किया है. ये वैक्सीन 18-44 साल के लोगों को मुफ्त में दी जाएगी. लेकिन अब तक सरकार को सिर्फ 4.2 लाख डोज़ मिली है. लिहाज़ा पिछले तीन दिनों से 18-44 साल के लोगों को टीका लगाने का काम बंद कर दिया गया है.

 

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज