लाइव टीवी

दिल्ली-NCR के प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई, UP-हरियाणा-पंजाब के मुख्य सचिव रहेंगे मौजूद

News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 10:29 AM IST
दिल्ली-NCR के प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई, UP-हरियाणा-पंजाब के मुख्य सचिव रहेंगे मौजूद
वायु प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट आज करेगी सुनवाई (फाइल फोटो)

वायु प्रदूषण (air pollution) पर आज सुप्रीम कोर्ट ( supreme court) में सुनवाई होगी. इस दौरान उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के मुख्य सचिवों की पेशी होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 10:29 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर के वातावरण में फैले प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट आज यानी बुधवार को सुनवाई करेगी. दोपहर साढ़े तीन बजे ये सुनवाई होगी. सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के मुख्य सचिवों की पेशी होगी. गौरतल है कि राष्ट्रीय राजधानी और उसके आसपास के इलाके में दिवाली के बाद से प्रदूषण का कहर जारी है. इससे लोगों का सांस लेना दूभर हो गया है. बीते दिनों नोएडा में गाजियाबाद में (एक्यूआई) 1000 के बार चला गया था. ऐसे में सरकार और गैरसरकारी स्कूलों में दो दिनों के लिए छुट्टियां देनी पड़ी थीं. हालांकि, मंगलवार से स्थिति पहले के अपेक्षा काफी सुधरी है. प्रदूषण का स्तर काफी कम हुआ है.

बुधवार को भी प्रदूषण के स्तर में कमी दर्ज की गई है. तेज हवाओं के कारण सुबह से ही स्मॉग काफी कम है और धूप भी खिली हुई है. दिल्ली के सबसे ज्यादा प्रदूषित जगहों में से एक आनंद विहार इलाके का एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air Quality Index) में पीएम 2.5 का स्तर 260 के आसपास बना हुआ है. इसके साथ ही मौसम विभाग ने आज शाम से लगातार तीन दिनों तक बारिश होने के आसार जताए हैं. इस दौरान हवा की गति भी तेज रहेगी. वहीं, पांच दिन बंद रहने के बाद दिल्ली में स्कूल भी बुधवार से फिर खुल गए. मालूम हो कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वातावरण में बढ़ते प्रदूषण और स्मॉग की वजह से स्कूलों को पांच नवंबर तक के लिए बंद रखने का आदेश दिया था.

सरकार ने काफी कदम उठाए हैं
बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण से राहत के लिए सरकार ने काफी कदम उठाए हैं. दिल्ली सरकार ने ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू किया है. साथ ही पानी का छिड़काव भी किया जा रहा है.  कुछ इलाकों में कंस्ट्रक्शन के काम पर रोक भी लगा दिए गए हैं. यही वजह है कि दिल्ली-एनसीआर में जहरीली हवा का प्रकोप कम हो रहा है.

बिहार में चिंताजनक स्थिति
लेकिन इसी बीच प्रदूषण को लेकर बिहार में चिंताजनक खबर सामने आई है. एक ताजा आंकड़े के मुताबिक, दिल्ली से ज्यादा बिहार प्रदूषण की समस्या से ग्रस्त है. वायु प्रदूषण की वजह से बिहार की राजधानी पटना के लोगों की उम्र 7.7 साल कम हो गई है. साथ ही पॉल्यूशन की वजह से पटना के लोग 7.7 साल काम जी पाएंगे. प्रदूषण का असर बिहार के दूसरे हिस्सों पर भी है. पॉल्यूशन की वजह से बिहार के लोगों की औसतन 6.9 साल उम्र कम हुई है. इससे लोगों की औसत उम्र लगातार कम हो रही है. 1998 में पटना के लोगों की उम्र 4 साल तक कम हुई थी. 2019 में ये बढ़कर 7.7 साल हो गई है.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

ब्रिटेन में सत्ता के समीकरण बदलेंगे OFBJP अध्यक्ष राजस्थान के कुलदीप सिंह

UPPCL PF घोटाला: ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और अखिलेश के बीच छिड़ी ट्विटर जंग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 10:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...