पंजाब: CM अमरिंदर के इस्तीफे की मांग, BJP बोली विधायक नहीं विधानसभा हुई नग्न

कैप्टन अमरिंदर सिंह (तस्वीर-ANI)

कैप्टन अमरिंदर सिंह (तस्वीर-ANI)

Punjab News: अश्वनी शर्मा ने कहा कि घटना में विधायक नग्न नहीं हुआ है अपितु पूरी विधानसभा नग्न हुई है. उन्होंने कहा कि जिस राज्य में विधायक ही सुरक्षित नहीं है वहां आम जनता कितनी सुरक्षित इसका सहजता से अंदाजा लगाया जा सकता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 3:56 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मलोट शहर में अबोहर के बीजेपी विधायक अरुण नारंग (BJP MLA Arun Narang) के कपड़े फाड़ने और मारपीट के मामले में भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amrinder Singh) के इस्तीफे की मांग की है. उधर पंजाब पुलिस ने दावा किया है कि इस मामले में करीब 300 अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की साजिश का मामला दर्ज किया गया. इस घटना पर राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने भी चिंता जाहिर की है.

पंजाब बीजेपी अध्यक्ष अश्वनी शर्मा के नेतृत्व में रविवार को एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर को मिला. प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंप कर विधायक के साथ हुई मारपीट को लेकर विरोध दर्ज करवाया और राज्य में बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था लेकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को जिम्मेदार ठहराया.

कैप्टन अमरिंदर पर लगाया माहौल खराब कराने का आरोप
ज्ञापन सौंपने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए अश्वनी शर्मा ने कहा कि घटना में विधायक नग्न नहीं हुआ है अपितु पूरी विधानसभा नग्न हुई है. उन्होंने कहा कि जिस राज्य में विधायक ही सुरक्षित नहीं है वहां आम जनता कितनी सुरक्षित इसका सहजता से अंदाजा लगाया जा सकता. भाजपा अध्यक्ष का कहना है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर राज्य में माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं.
ये भी पढ़ें- शराब के धंधे में तो नहीं उतर गए 211 बर्खास्त जवान? पुलिस मुख्यालय रख रहा नजर



पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बीजेपी नेताओं को आश्वासन दिया है कि दोषियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए जाएंगे. पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा है कि मामले में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सख्त कार्रवाई के आदेश के आदेशों के बाद पूरे मामले में 250 से 300 अज्ञात लोगों के धारा- 307 सहित 353,186, 188, 332, 342, 506, 148, 149 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

गौरतलब है कि पंजाब में कृषि कानूनों को लेकर भाजपा के प्रति किसानों का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है. बीते शनिवार को सरकार के चार साल के कार्यकाल की नाकामियों को उजागर करने के लिए मलोट पहुंचे अबोहर के भाजपा विधायक अरुण नारंग के किसानों ने कपड़े फाड़ कर उनकी पिटाई कर दी.

वहीं दूसरी ओर फिरोजपुर प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पहुंची भाजपा की राज्य महासचिव सुनीता गर्ग का भी किसानों ने कड़ा विरोध किया. किसान उनके घर के बाहर धरने पर बैठे हुए है. एक अन्य मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा पंजाब के उप प्रधान प्रवीण बंसल व अन्य नेताओं को भी किसानों ने बरनाला के रेस्ट हाउस में घेर कर उन्हें वहां से बाहर ही नहीं निकलने दिया. वह भी सरकार के चार साल के कार्यकाल को लेकर प्रेस वार्ता करने पहुंचे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज