1 मई को किसान-मजदूर एकता दिवस मनाएंगे आंदोलनकारी, 5 को निकालेंगे रोष मार्च

कोरोना संकट में भी दिल्ली के कुछ बॉर्डर पर किसानों का धरना जारी है (PTI)

कोरोना संकट में भी दिल्ली के कुछ बॉर्डर पर किसानों का धरना जारी है (PTI)

संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने कहा कि आंदोलन को तोड़ने का खूब प्रयास किया जा रहा है, लेकिन किसान मजबूती के साथ डटे हुए हैं. उन्होंने बताया इस दिन दोपहर दो बजे रेलवे स्टेशन से भगत सिंह चौक तक मार्च निकाला जाएगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 10:17 AM IST
  • Share this:
अमृतसर. तीनों कृषि कानून रद्द (Farms Law) कराने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसान मई दिवस (May Day) किसान-मजदूर एकता दिवस के रूप में मनाएंगे। इसके लिए किसान मोर्चा व ट्रेड यूनियनों की ऑनलाइन बैठक हुई. पंजाब के किसान नेताओं ने बताया कि दिल्ली बॉर्डर सहित पंजाब-हरियाणा के कई स्थानों पर एक मई को अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाया जाएगा. इस दिन विशेष तौर पर मजदूर नेता मंच संभालेंगे.

संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने कहा कि आंदोलन को तोड़ने का खूब प्रयास किया जा रहा है, लेकिन किसान मजबूती के साथ डटे हुए हैं. उन्होंने बताया इस दिन दोपहर दो बजे रेलवे स्टेशन से भगत सिंह चौक तक मार्च निकाला जाएगा. टोल प्लाजा महलकलां व टोल प्लाजा बडबर व भाजपा के जिला प्रधान यादविंदर शंटी के निवास के बाहर भी वीरवार को किसानों का धरना जारी रहा. किसान संगठनों का संघेड़ा-भदलवड्ड रोड पर स्थित पेट्रोल पंप के सामने भी धरना चल रहा है.

किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने बयान जारी कर कहा कि पांच मई को किसान दिल्ली में रोष मार्च निकालेंगे. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसान आंदोलन को बदनाम करने का प्रयास कर रही है. उधर, गुरुवार को गांव जंडियाला गुरु में किसान संगठनों की बैठक हुई. किसान नेताओं ने बताया कि अमृतसर से दिल्ली के लिए किसानों का 12वां जत्था जल्द ही कूच करेगा. इसकी तैयारियां चल रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज