होम /न्यूज /पंजाब /चंडीगढ़ में G-20 की आज से बैठक, वैश्विक ऋण-आर्थिक मुद्दों पर होगी चर्चा, कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किया उद्घाटन

चंडीगढ़ में G-20 की आज से बैठक, वैश्विक ऋण-आर्थिक मुद्दों पर होगी चर्चा, कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किया उद्घाटन

चंडीगढ़ के सभी प्रमुख चौराहों पर जी20 शिखर सम्मेलन से जुड़े बैनर-पोस्टर, और सदस्य देशों के राष्ट्रीय ध्वज लगाए गए हैं. (ANI Photo)

चंडीगढ़ के सभी प्रमुख चौराहों पर जी20 शिखर सम्मेलन से जुड़े बैनर-पोस्टर, और सदस्य देशों के राष्ट्रीय ध्वज लगाए गए हैं. (ANI Photo)

चंडीगढ़ में दो दिवसीय G-20 सम्मेलन में केंद्रीय वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा फ्रांस और दक्षिण कोरि ...अधिक पढ़ें

एस. सिंह

चंडीगढ़: चंडीगढ़ में जी-20 शिखर सम्मेलन (G-20 Meeting in Chandigarh) की आज पहली बैठक में दुनिया की अग्रणी अर्थव्यवस्थाएं वैश्विक ऋण स्थिति पर चर्चा करेंगी और बढ़ते कर्ज को बेहतर ढंग से संभालने के लिए समाधान तलाशेंगी. चंडीगढ़ में इस सम्मेलन का उद्घाटन आज केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किया. उन्होंने अपने संबोधन में कहा, ‘यह गर्व और खुशी का क्षण है कि हम अपनी जी20 अध्यक्षता के तहत देश में कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। देश में 50 से अधिक स्थानों पर 200 से अधिक बैठकें आयोजित की जाएंगी, लगभग 2 लाख प्रतिनिधि भारत आएंगे.’

1999 में स्थापित G-20 में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका तुर्की, ब्रिटेन,अमेरिका और यूरोपीय संघ शामिल हैं. दुनिया के प्रमुख विकसित और विकासशील देशों का G-20 समूह वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का 80%, अंतरराष्ट्रीय व्यापार का 75% और दुनिया की आबादी का दो-तिहाई हिस्सा है. सम्मेलन में केंद्रीय वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा फ्रांस और दक्षिण कोरिया के साथ आर्थिक मामलों पर संयुक्त रूप से विचार-विमर्श किया जाएगा, जो अंतरराष्ट्रीय वित्तीय वास्तुकला कार्य समूह के सह-अध्यक्ष हैं.

G-20 Summit: यूपी में जी-20 की ब्रांड एंबेसडर बनीं स्क्वाड्रन लीडर तूलिका रानी, प्रदेश की इस बेटी को जानें

केंद्रीय वित्त मंत्रालय में सलाहकार पी. मथाई ने कहा है कि इस बात पर ध्यान दिया जाएगा कि ऋण को बेहतर तरीके से कैसे संभाला जाए, क्योंकि पहले की गई कुछ पहलों से वांछित परिणाम नहीं मिले है. उन्होंने कहा कि एजेंडे में यह भी शामिल है कि वैश्विक वित्तीय सुरक्षा जाल को कैसे मजबूत बनाया जा सकता है. इसके अलावा बहुपक्षीय विकास बैंकों को वित्त पोषण आवश्यकताओं को पूरा करने पर भी सम्मेलन में चर्चा की जाएगी. G-20 ने शुरुआत में बड़े पैमाने पर व्यापक आर्थिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया है.

G-20 Summit: विदेशी मेहमानों को एक रंग में दिखेगी काशी, बेस पेंटिंग से BHU के छात्र बदलेंगे तस्वीर

इसके बाद व्यापार, जलवायु परिवर्तन, सतत विकास, स्वास्थ्य, कृषि, ऊर्जा, पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन और भ्रष्टाचार विरोधी एजेंडे का भी विस्तार किया है. चंडीगढ़ में दो दिवसीय बैठक में जी- 20 देशों, अतिथि देशों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के लगभग 100 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं. केंद्रीय वित्त मंत्रालय के संयुक्त सचिव बलदेव पुरुषार्थ ने कहा कि दो दिवसीय बैठक के दौरान जी-20 कार्यक्रमों में सार्वजनिक भागीदारी बढ़ाने और रुचि पैदा करने के लिए पूरे चंडीगढ़ में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे. चंडीगढ़ में चर्चा के बाद जी-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों की पहली बैठक 24-25 फरवरी को बेंगलुरु में होगी. कृषि मुद्दों पर एक और बैठक के लिए जी-20 शिखर सम्मेलन मार्च में चंडीगढ़ लौटेगा.

Tags: Chandigarh, G20 Summit, India G20 Presidency

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें