• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • पंजाब: जेल में गैंगस्टरों ने की थी हुक्का बार पार्टी, सरकार ने 3 अधिकारियों को किया सस्पेंड

पंजाब: जेल में गैंगस्टरों ने की थी हुक्का बार पार्टी, सरकार ने 3 अधिकारियों को किया सस्पेंड

वायरल वीडियो में कुछ कैदी शराब के गिलास हाथ में लिए हुए थे और उनमें कुछ हुक्के के कश भी लगा रहे थे.

वायरल वीडियो में कुछ कैदी शराब के गिलास हाथ में लिए हुए थे और उनमें कुछ हुक्के के कश भी लगा रहे थे.

Punjab Jail: मामले की जांच रिपोर्ट में जेल के अंदर हुक्का समेत शराब की उपलब्धता कैसे हुई इस पर सवाल उठाए गए हैं. जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि जब यह पार्टी चल रही थी तो पुलिस अधिकारी अपनी ड्यूटी पर तैनात थे.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब की लुधियाना सेंट्रल जेल (Ludhiana Central Jail) में कैदियों द्वारा की गई हुक्का बार पार्टी (Hookah bar party) का आखिर जेल कर्मियों को खामियाजा भुगतना ही पड़ा. लंबी विभागीय जांच (long departmental inquiry) के बाद जेल प्रशासन (jail administration) ने एक सहायक अधीक्षक (Assistant superintendent) समेत तीन जेल अधिकारियों को सस्पेंड  कर दिया गया है. इन अधिकारियों में सहायक जेल अधीक्षक अब्दुल हमीद, वार्डन रूपिंदर सिंह और हेड वार्डन हरपाल सिंह शामिल हैं. यही नहीं ब्लॉक इंचार्ज सहायक अधीक्षक तरसेम पाल का ट्रांसफर कर दिया गया है.

    वीडियो हुआ था वायरल
    जानकारी के मुताबिक मई महीने में लुधियाना की सेंट्रल जेल में गैंगस्टर निक्का जटाना और उसके साथियों ने जेल में हुक्का पार्टी की थी. जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया था. वायरल वीडियो में कुछ कैदी शराब के गिलास हाथ में लिए हुए थे और उनमें कुछ हुक्के के कश भी लगा रहे थे. वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने गैंगस्टर मनविंदर सिंह उर्फ निक्का जटाना, अभिषेक कुमार, परमिंदर सिंह, भारती सिंह, केवल कृष्ण और मनिंदर सिंह समेत अन्य के खिलाफ FIR दर्ज की थी. 16 मई को मामला सामने आने के बाद जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा इसमें जांच के आदेश दिए थे.जेल अधिकारियों के अनुसार, वीडियो मई के पहले हफ्ते में रिकॉर्ड किया गया था.

    ये भी पढ़ें:- पठानकोट जैसे हमले की थी प्लानिंग? ड्रोन के इस्तेमाल के चलते पाकिस्तान पर शक

    मामले की जांच रिपोर्ट में जेल के अंदर हुक्का समेत शराब की उपलब्धता कैसे हुई इस पर सवाल उठाए गए हैं. जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि जब यह पार्टी चल रही थी तो पुलिस अधिकारी अपनी ड्यूटी पर तैनात थे. यह भी संभावना रिपोर्ट में जताई गई कि अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत से ही यह संभव हो पाया.

    पंजाब की जेलों में इस तरह का यह पहला मामला नहीं है इससे पहले भी कई बार आपत्तिजनक चीजें और नशीले पदार्थ जेलों से बरामद की जाती रही हैं. जेलों में बंद गैंगस्टर आए दिन मोबाइल फोन से सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड करते रहते हैं, मोबाइल फोन आए दिन जेलों से जब्त किए जाते हैं लेकिन ये जेल के अंदर कौन पहुंचाता है, इस बात का खुलासा जांच में कम ही हो पाता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज