• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • Covid-19: नए वेरिएंट की पहचान करने के लिए पंजाब में खुली जीनोम सीक्वेंसिंग लैब

Covid-19: नए वेरिएंट की पहचान करने के लिए पंजाब में खुली जीनोम सीक्वेंसिंग लैब

सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला में जीनोम सिक्वेंसिंग फैसिलिटी की उपलब्धता से रिपोर्टें अब 5 से 6 दिनों में मिल रही हैं.

सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला में जीनोम सिक्वेंसिंग फैसिलिटी की उपलब्धता से रिपोर्टें अब 5 से 6 दिनों में मिल रही हैं.

Covid-19 Lab: जीनोम सीक्वेंसिंग लैब में अब तक लगभग 150 नमूनों की जांच की जा चुकी है और किसी भी नमूने में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट की पहचान नहीं हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट की पहचान करने के लिए अपनी वायरस रिसर्च डायग्नोस्टिक लैब (वी.आर.डी.एल.) (Virus Research Diagnostic Lab VRDL) खोलने वाला पंजाब पहला राज्य बन गया है. यह लैब सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला (Government Medical College, Patiala) में स्थापित की गई है, जो देश में अपनी किस्म की ऐसी पहली कोविड-19 जीनोम सीक्वेंसिंग (COVID-19 genome sequencing) फैसिलिटी वाली लैब है. लैब में अब तक लगभग 150 नमूनों की जांच की जा चुकी है और किसी भी नमूने में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट की पहचान नहीं हुई.

    स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू (Balbir singh sidhu) ने कहा कि इससे पहले राज्य सरकार द्वारा कोविड के नए वेरिएंट के संदिग्ध मरीजों के सभी नमूने एन.सी.डी.एस. दिल्ली में भेजे जाते थे, जहां कोविड के नए वेरिएंट की पुष्टि करने में एक महीने से अधिक समय लग जाता था.

    विशेषज्ञों के अनुसार यदि किसी विशेष क्षेत्र में कोविड के नए वेरिएंट का कोई मामला पाया जाता है तो वायरस के फैलाव को और आगे बढ़ने से रोकने के लिए सभी संदिग्ध मरीजों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और टेस्टिंग करने की तुरंत जरूरत होती है. उन्होंने कहा कि सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला में जीनोम सिक्वेंसिंग फैसिलिटी की उपलब्धता से रिपोर्टें अब 5 से 6 दिनों में मिल रही हैं.

    ये भी पढ़ें:- लखनऊ में बारिश ने तोड़े रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटों में देश में सबसे ज्‍यादा बरसात हुई

    लैब की विशेषताएं बताते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लेबोरेट्री को यू.के. आधारित निर्माता- ऑक्सफोर्ड नैनोपोर द्वारा विकसित की गई है. इसमें मीन आईओएन एक विशेष संक्षिप्त और पोर्टेबल यू.एस.बी. द्वारा संचालित उपकरण है, जो डी.एन.ए. और आर.एन.ए. दोनों के रियल-टाइम विश्लेषण के जरिये नतीजों तक तुरंत पहुंचने की सुविधा देता है. जीनोम सीक्वेंसर और सहायक उपकरण एक यू.एस. आधारित गैर-लाभकारी संगठन, पाथ द्वारा राज्य में चलाए जा रहे कोविड-19 रिस्पॉन्स सपोर्ट के हिस्से के तौर पर दान किए गए हैं.

    सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला के इंचार्ज द्वारा किए जा रहे यत्नों की सराहना करते हुए सिद्धू ने कहा कि डॉ. रुपिन्दर बख्शी और उनका स्टाफ पिछले साल मार्च में महामारी के शुरू होने से अब तक राज्य की अथक सेवा कर रहे हैं. इस लैब को आई.सी.एम.आर. द्वारा समूचे भारत में कोविड-19 आरटीपीसीआर टेस्टिंग क्षमता में लैब को टॉप 5 लैब्स में मान्यता दी गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज