होम /न्यूज /पंजाब /गायक गुरदास मान की मुश्किलें बढ़ीं, जमानत याचिका रद्द होने के बाद किया हाईकोर्ट का रुख

गायक गुरदास मान की मुश्किलें बढ़ीं, जमानत याचिका रद्द होने के बाद किया हाईकोर्ट का रुख

 मान ने जिला एवं सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी. (फोटो-@gurdasmaan)

मान ने जिला एवं सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी. (फोटो-@gurdasmaan)

Gurdas Mann: मान के वकील दर्शन सिंह दयाल ने तर्क दिया था कि गायक ने गलती से बयान दिया था. हालांकि उन्होंने हाथ जोड़कर म ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    चंडीगढ़. जालंधर सेशन कोर्ट (Jalandhar Sessions Court) ने गायक गुरदास मान (Gurdas Mann) की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है. याचिका खारिज होने के बाद मान पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है, पुलिस उन्हें कभी भी गिरफ्तार कर सकती है. हालांकि मान के वकील ने हाईकोर्ट में जमानत अर्जी दायर करने की बात कही है. पिछले महीने नकोदर में डेरा बाबा मुराद शाह (Dera Baba Murad Shah) में एक धार्मिक मेले के दौरान की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार समिति (Guru Granth Sahib Satkar Samiti) सहित सिख संगठनों ने समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए उनके खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. मान ने डेरा के शासक लाडी शाह को तीसरे सिख गुरु अमर दास के वंशज के रूप में वर्णित किया था.

    इसके बाद मान ने जिला एवं सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी. सुनवाई के दौरान सिख संगठनों के अधिवक्ता परमिंदर सिंह ढींगरा और रविंदर सिंह ने कहा कि मान के शब्दों से समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है. उनके इस बयान से सिख समुदाय में काफी आक्रोश है. मान बाहर रहते हैं तो लोगों का गुस्सा बढ़ सकता है, इसलिए उसे जमानत नहीं दी जानी चाहिए. मामले की सुनवाई के दौरान गुरदास मान खुद अदालत में पेश नहीं हुए, उनके वकील ने जमानत अर्जी दाखिल की.

    ये भी पढ़ें:- काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी मस्जिद जमीन विवाद: ASI से सर्वे होगा या नहीं, हाईकोर्ट आज सुनाएगा फैसला

    मान के वकील दर्शन सिंह दयाल ने तर्क दिया था कि गायक ने गलती से बयान दिया था. हालांकि उन्होंने हाथ जोड़कर माफी मांगी थी और इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया था. वहीं सिख संगठनों के वकील ने यह कहते हुए विरोध किया कि कानून के मुताबिक इस तरह की माफी वैध नहीं है. मान के खिलाफ नकोदर थाने में आईपीसी की धारा 295-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है. सिख संगठनों ने इससे पहले मान की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जालंधर-दिल्ली हाइवे जाम कर दिया था.

    Tags: Gurdas Maan, Punjab

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें