• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • Punjab Election 2022: पंजाब में सिखों के बाद हिंदुओं की बड़ी आबादी, ‌BJP से हिंदू सीएम कैंडीडेट उतारने की मांग

Punjab Election 2022: पंजाब में सिखों के बाद हिंदुओं की बड़ी आबादी, ‌BJP से हिंदू सीएम कैंडीडेट उतारने की मांग

हिंदुवादी संगठनों की ओर से पंजाब में सिख की बजाय हिंदू चेहरे को सीएम कैंडिडेट के रूप में घोषित करने की मांग की जाने लगी है. (सांकेतिक फोटो)

हिंदुवादी संगठनों की ओर से पंजाब में सिख की बजाय हिंदू चेहरे को सीएम कैंडिडेट के रूप में घोषित करने की मांग की जाने लगी है. (सांकेतिक फोटो)

Punjab Assembly Election 2022: हिंदुवादी संगठनों की ओर से पंजाब में सिख की बजाय हिंदू चेहरे को सीएम कैंडिडेट के रूप में घोषित करने की मांग की जाने लगी है. इस मामले में यूनाइटेड हिंदू फ्रंट के एक शिष्टमंडल ने भाजपा (BJP) के सांसद और पंजाब मामलों के प्रभारी दुष्यंत गौतम से भी भेंट की है और हिंदू चेहरा घोषित करने की मांग की है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आगामी 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election) होने जा रहे हैं. ऐसे में हिंदुवादी संगठनों की ओर से पंजाब में सिख की बजाय हिंदू चेहरे को सीएम कैंडिडेट (CM Candidate) के रूप में घोषित करने की मांग की जाने लगी है. इस मामले में यूनाइटेड हिंदू फ्रंट के एक शिष्टमंडल ने भाजपा (BJP) के सांसद और पंजाब मामलों के प्रभारी दुष्यंत गौतम (Dushyant Gautam) से भी भेंट की है और हिंदू चेहरा घोषित करने की मांग की है.

    ये भी पढ़ें: केंद्र के खिलाफ गरजे पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू, बोले- विरोधियों के बिस्तर गोल कर दूंगा

    शिष्टमंडल का नेतृत्व फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष एवं राष्ट्रवादी शिव सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष जय भगवान गोयल ने किया. शिष्टमंडल ने गौतम को स्पष्ट शब्दों में कहा कि पंजाब में सबसे बड़ी हिंदू जनसंख्या 40 प्रतिशत है लेकिन 1966 के बाद से आज तक पंजाब में हिंदू मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया.

    पंजाब का हिंदू अपने प्रांत का मुख्यमंत्री हिंदू बनाए जाने का लंबे अरसे से इंतजार कर रहा है और आगामी विधानसभा चुनावों (Assembly Election) में उसी राजनीतिक दल को समर्थन व वोट देगा जो हिंदू मुख्यमंत्री की घोषणा करेगा.

    ये भी पढ़ें: पंजाब: मोगा बस हादसे के घायलों से मिले सोनू सूद, बोले- हर संभव सहायता करूंगा

    गोयल ने बताया कि पंजाब में आजादी के तुरंत बाद से हिंदू मुख्यमंत्री ने पदभार संभाला. लेकिन पंजाब से हरियाणा (Haryana) अलग हो जाने के बाद किसी भी हिंदू को पंजाब का मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया. पंजाब में सिख जनसंख्या 58 प्रतिशत है और दूसरे नंबर पर 40 प्रतिशत हिंदू आबादी है. लेकिन मुख्यमंत्री पद पर हमेशा सिख ही काबिज होते आए हैं.

    ये भी पढ़ें: कोविड-19: तीसरी लहर से निपटने के लिए BJP का मेगा प्लान, तैयार होगी स्वास्थ्य सेवकों की फौज

    आगामी 2022 के विधानसभा चुनावों में पंजाब का हिंदू उसी राजनीतिक दल का समर्थन करेगा जो हिंदू मुख्यमंत्री बनाए जाने का पक्षधर होगा. उन्होंने कहा कि हिंदू मुख्यमंत्री बनने से खालिस्तानी तत्वों पर अंकुश लगेगा और खालिस्तान के विरुद्ध आवाज बुलंद करने वाले हिंदुओं का उत्पीड़न बंद होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज