लाइव टीवी

8 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

News18Hindi
Updated: October 12, 2019, 8:14 PM IST
8 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 नवंबर 2019 को डेरा बाबा नानक में आएंगे और वे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 8 नवंबर 2019 को करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) का उद्घाटन करेंगे. केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने बताया कि मोदी डेरा बाबा नानक (Dera Baba Nanak) में आएंगे और वे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2019, 8:14 PM IST
  • Share this:
अमृतसर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 8 नवंबर 2019 को बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) का उद्घाटन करेंगे. केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने यह जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डेरा बाबा नानक (Dera Baba Nanak) में आएंगे और वे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे.

इस साल सिख धर्म के संस्थापक और पहले गुरु नानक देव की 550वीं जयंती मनाई जाएगी. गुरु नानक देव की जयंती को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है. इससे पहले पाकिस्तान (Pakistan) ने गुरुवार को कहा था कि बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के लिए अभी कोई तिथि तय नहीं की है, लेकिन पाकिस्तान ने आश्वासन दिया था कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर इसे अगले महीने समय से शुरू कर दिया जाएगा.



दरबार साहिब को गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से जोड़ेगा कॉरिडोर
Loading...

लगभग एक महीने पहले कॉरिडोर प्रोजेक्ट से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने घोषणा की थी कि पाकिस्तान नौ नवम्बर से भारतीय सिख श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब (Kartarpur Sahib) के लिए जाने की अनुमति देगा. करतारपुर कॉरिडोर, पाकिस्तान के करतारपुर में दरबार साहिब को गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से जोड़ेगा और भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को वीजा मुक्त आवाजाही की सुविधा प्रदान करेगा.

बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन 8 नवंबर 2019 को किया जाएगा. (फाइल फोटो)


बिना वीज़ा एंट्री
यह गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर में दरबार साहिब को गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से जोड़ेगा और भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को वीजा मुक्त आने-जाने की सुविधा देगा. सिख तीर्थयात्रियों को करतारपुर साहिब में जाने के लिए सिर्फ अनुमति लेनी होगी. करतारपुर साहिब की स्थापना गुरू नानक देव ने 1522 ईस्वी में की थी. यह गलियारा 1947 में भारत की आजादी के बाद से दोनों पड़ोसी देशों के बीच पहला वीजा मुक्त गलियारा भी होगा.

करतारपुर साहिब की अहमियत
करतारपुर साहिब सिखों के लिए सबसे पवित्र जगह है. करतारपुर साहिब सिखों के प्रथम गुरु, गुरुनानक देव जी का निवास स्‍थान था. गुरु नानक ने अपनी जिंदगी के आखिरी 17 वर्ष 5 महीने 9 दिन यहीं गुजारे थे. उनका पूरा परिवार यहीं आकर बस गया था. उनके माता-पिता और उनका देहांत भी यहीं हुआ था. इस लिहाज से यह पवित्र स्थल सिखों से जुड़ा सबसे बड़ा धार्मिक स्थान है.

ये भी पढ़ें - 

विधानसभा चुनाव 2019: राष्ट्रवाद और विकास एक-दूसरे के पूरक-भूपेंद्र यादव

शिवसेना के लिए कितना असरदार होगा आदित्य ठाकरे का चुनावी राजनीति में आना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 5:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...