होम /न्यूज /पंजाब /Covid-19 के बाद पंजाब की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में मदद करेंगे पूर्व PM मनमोहन सिंह

Covid-19 के बाद पंजाब की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में मदद करेंगे पूर्व PM मनमोहन सिंह

मनमोहन सिंह की सरकार ने 6 फरवरी 2006 को पूरे देश में मनरेगा लागू किया था.(फाइल फोटो)

मनमोहन सिंह की सरकार ने 6 फरवरी 2006 को पूरे देश में मनरेगा लागू किया था.(फाइल फोटो)

अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने ट्वीट किया, ‘मैंने डॉक्टर मनमोहन सिंह जी को पत्र लिखा कि मोंटेक सिंह अहलूवालिया के ने ...अधिक पढ़ें

    चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह  (Amarinder Singh ने सोमवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कोविड-19 के बाद राज्य में अर्थव्यवस्था की बेहतरी की रणनीति बनाने के लिए विशेषज्ञों के समूह का मार्गदर्शन करने के उनके आग्रह को स्वीकार कर लिया है.

    अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया, ‘मैंने डॉक्टर मनमोहन सिंह जी को पत्र लिखा कि मोंटेक सिंह अहलूवालिया के नेतृत्व में विशेषज्ञों के समूह का मार्गदर्शन करें और इसे स्वीकार करने के लिए मैं उनका आभारी हूं. हम पंजाब को आर्थिक प्रगति के मार्ग पर आगे बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत करते रहे हैं और कोविड-19 के बाद हम इस पर फिर ध्यान केंद्रित करेंगे.’

    राज्य की अर्थव्यवस्था फिर से बहाल करने में करेंगे मदद

    राज्य सरकार ने 25 अप्रैल को प्रख्यात अर्थशास्त्री और योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अलूवालिया के नेतृत्व में विशेषज्ञों की समिति का गठन किया था ताकि राज्य की अर्थव्यवस्था को पुनर्बहाल किया जा सके. समूह में प्रमुख अर्थशास्त्री एवं उद्योग जगत के विशेषज्ञ शामिल हैं जो पंजाब सरकार को लघु अवधि और दीर्घ अवधि में योजना की अनुशंसा करेंगे ताकि कोविड-19 संकट के बाद राज्य की अर्थव्यवस्था फिर से बहाल की जा सके.

    अहलूवालिया कर रहे नेतृत्व

    एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया कि इस बीच अहलूवालिया के नेतृत्व वाले समूह की बैठक सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई और इसने पांच उप समूह बनाए -- वित्त, कृषि, स्वास्थ्य, उद्योग और सामाजिक सहायता समूह ताकि इसके कार्यों को आगे बढ़ाया जा सके. अहलूवालिया ने कहा कि समूह के समक्ष महत्वपूर्ण कार्य है लेकिन ‘‘राज्य की अर्थव्यवस्था को पुनर्बहाल करने के लिए हम कुछ समाधान जरूर निकालेंगे.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की वित्तीय स्थिति खराब है और मासिक राजस्व नुकसान 3360 करोड़ रुपये हो रहा है.

    ये भी पढ़ें- कोरोना से बड़ी राहत, पूर्वोत्तर के 8 में से 5 राज्य Covid-19 से मुक्त

    Tags: Amarindar singh, Coronavirus, Dr. manmohan singh, Punjab

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें