ननकाना साहिब हमले पर बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने पूछा-अब कहां भाग गए सिद्धू पाजी

नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा दिए छह महीने से भी ज्यादा समय हो गया है.
नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा दिए छह महीने से भी ज्यादा समय हो गया है.

पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt.Amarinder Singh) और शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने घटनाक्रम पर चिंता जाहिर की है, लेकिन अभी तक कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का कोई बयान सामने नहीं आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2020, 9:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) स्थित सिखों के पवित्र स्थल गुरुद्वारा ननकाना साहिब (Gurdwara Nankana Sahib) पर हमले को लेकर देश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. सिख समुदाय के लोग ही नहीं दूसरे समुदाय के लोग भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हैं. खासकर सोशल मीडिया पर ननकाना साहिब की घटना का वीडियो शेयर कर यूजर्स अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं. ननकाना साहिब में हुई पत्थरबाजी की घटना को लेकर यूजर्स कांग्रेस नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) पर भी जमकर निशाना साध रहे हैं.

बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा, इस मुद्दे पर कांग्रेस अब तक खामोश है. मुझे नहीं पता सिद्धू पाजी कहां भाग गए. अगर इन सबके बाद भी वह आईएसआई प्रमुख को गले लगाना चाहते हैं, तो कांग्रेस को इस पर गौर करना चाहिए.  दरअसल पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने घटनाक्रम पर चिंता जाहिर की, लेकिन इस पर अभी तक कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू का कोई बयान सामने नहीं आया है. जिसके बाद यूजर्स नवजोत सिंह सिद्धू को ट्रोल करते हुए सवाल पूछ रहे हैं, 'आप खामोश हो गए हैं अब अपने दोस्त इमरान खान पर राय नहीं दे रहे हैं?'
मीनाक्षी लेखी ने कहा, आप आईएसआई चीफ को गले लगा लोगे और वह आपको भाई मान लेगा ऐसा नहीं है. वह कसाई है तो कसाई रहेगा जो आपका अपना इतिहास है सिखों का गौरवमयी रहा है. ननकाना साहिब में हमला घृणित है. ये घटनाएं 1947 से होती आ रही है आज सोशल मीडिया की वजह से सामने आ रही हैं.ननकाना साहिब मामले पर अकाली नेता और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का भी बयान आया है. ननकाना साहिब पर हुए हमले पर पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि ये बहुत ही दुखदायी घटना है हम भारत सरकार से अपील करते है भारत सरकार जल्दी से जल्दी वहां पर रह रहे सिखों की सुरक्षा को सुनिश्चित कराए और वहां पर अमन शांति को कायम करवाने के लिए उचित कदम उठाए जाएं.
Gurudwara Nankana Sahib
सोशल मीडिया पर ननकाना साहिब की घटना का वीडियो शेयर कर यूजर्स विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.
प्रधानमंत्री इमरान खान से हस्तक्षेप करने की मांगक्रिकेटर हरभजन सिंह ने भी पाकिस्तान में पवित्र स्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ के हमले पर चिंता व्यक्त की और प्रधानमंत्री इमरान खान से हस्तक्षेप करने की मांग की है. हरभजन सिंह ने अपने ट्विटर पर दो वीडियो शेयर किए हैं, जिसमें भीड़ द्वारा गुरुद्वारे की जगह मस्जिद बनाने की बात कही जा रही है. हरभजन सिंह ने ट्विट करते हुए कहा, 'पता नहीं कुछ लोगों को क्या समस्या है, न जानें क्यों वे शांति से नहीं रह सकते. मोहम्मद हसन खुले तौर पर ननकाना साहिब गुरुद्वारे को तबाह कर वहां मस्जिद बनाने की बात कर रहा है. इमरान खान कृपया जरूरी कदम उठाएं.'

बीजेपी ने शनिवार को दिल्ली में इस घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. इस विरोध प्रदर्शन में बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पर जमकर निशाना साधा. बीजेपी सांसद रमेश बिधुड़ी ने कहा, 'सिद्धू ने इस घटना पर अभी तक बयान क्यों नहीं दिया है. सिद्दू को पाकिस्तान का वीजा और पासपोर्ट के साथ पाकिस्तान भेज देना चाहिए. सिद्दू पाकिस्तान जाएं और अपने मित्र दोस्त से मिलें.'



 





 

गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा दिए छह महीने से भी ज्यादा हो गया है. मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद से ही सिद्धू ने चुप्पी साध रखी है. हाल ही में वह ननकाना साहिब के कार्यक्रम में शामिल हुए थे. सिद्धू की चुप्पी से भले पंजाब कांग्रेस को कोई असर न पड़ रहा हो, लेकिन ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले के बाद उनकी चुप्पी पर सोशल मीडिया में बहस छिड़ गई है.

ये भी पढ़ें: 

नए साल पर मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, जून महीने से वन नेशन, वन राशन कार्ड होगा लागू
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज