अपना शहर चुनें

States

मोहाली: डेराबसी में बर्ड फ्लू का पता लगने के बाद 11,200 मुर्गियों को दफनाया गया

डेराबसी में बर्ड फ्लू का पता लगने के बाद 11,200 मुर्गियों को दफनाया गया(File)
डेराबसी में बर्ड फ्लू का पता लगने के बाद 11,200 मुर्गियों को दफनाया गया(File)

भोपाल की लैब से डेराबस्सी के गांवक बेहड़ा के अल्फा पोल्ट्री फार्म (Alpha Poultry Farm) की मुर्गियों में बर्ड फ्लू (Bird Flu) की पुष्टि होने के बाद प्रशासन ने मुर्गियों को मारने की कार्रवाई शुरू कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 2:10 PM IST
  • Share this:
मोहाली. जालंधर की लैब से बर्ड फ्लू की संभावित रिपोर्ट और भोपाल की लैब से डेराबस्सी के गांवक बेहड़ा के अल्फा पोल्ट्री फार्म (Alpha Poultry Farm) की मुर्गियों में बर्ड फ्लू (Bird Flu) की पुष्टि होने के बाद प्रशासन ने मुर्गियों को मारने की कार्रवाई शुरू कर दी है. अभी तक 11,200 मुर्गियों को दफना जा चुका है. खबर है कि इस काम को 10 दिनों में पूरा किया जाना है. इस काम में 100 से अधिक व्यक्तियों को लगाया गया है.

अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर (जनरल) आशिका जैन के मुताबिक मुर्गियों को खाने में बेहोशी की दवा दी जाती है इसके बाद मुर्गियों को मारने के बाद उन्हें बैग में भरकर जेसीबी से जमीन में गड्ढे खोदकर उसमें दबा दिया गया. इन फार्मों में बीमार मुर्गीयों को अलग करने का काम आगे भी जारी रहेगा और उन्हें गड्ढे में दफनाया जाएगा. अल्फा पोल्ट्री फार्म में इस काम को पूरा करने के बाद टीमें उसी क्षेत्र में स्थित रॉयल पोल्ट्री फार्म में जा कर मुर्गियों की छंटनी कर उन्हें दफनाने का कार्य शुरू करेंगी. मुर्गियों को दफनाने की प्रक्रिया पूरी करने के बाद पोल्ट्री फार्म को सैनेटाइज किया जाएगा. इस प्रक्रिया के हफ्ते भर में पूरा होने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें :- इंसानों तक पहुंच कैसे जानलेवा हो सकता है बर्ड फ्लू? जानें इसके बारे में सब कुछ
डेराबस्सी क्षेत्र के गांव बेहड़ा में स्थित अल्फा और रॉयल पोल्ट्री फार्मों की रिपोर्ट जालंधर लैब से 15 जनवरी को संदिग्ध आने के बाद इनके सैंपल भोपाल लैब में भेजे गए थे. वहां से इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मोहाली के डिप्टी कमिश्नर की ओर से बर्ड फ्लू को रोकने के लिए उक्त दोनों पोल्ट्री फार्मों की मुर्गियों को मारने के लिए पांच-पांच सदस्यों की 25 टीमों का गठन किया गया है. डीसी ने कहा कि यह कार्रवाई अभी जारी रहेगी और बर्ड फ्लू प्रभावित 53 हजार मुर्गियों को मारा जाना बाकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज