पंजाब सरकार ने मानी मांग, डेरा सच्चा सौदा समर्थक बिट्टू का अब होगा अंतिम संस्कार

डेरा सच्चा सौदा समर्थक महिंदर पाल सिंह उर्फ बिट्टू का अंतिम संस्कार करने को उनके परिवारजन राजी हो गए हैं. परिवारवालों की मांग थी कि बिट्टू पर से धर्मग्रंथ के अपमान का मामला वापस लिया जाए और हत्या की जांच की जाए.

News18Hindi
Updated: June 24, 2019, 8:01 PM IST
पंजाब सरकार ने मानी मांग, डेरा सच्चा सौदा समर्थक बिट्टू का अब होगा अंतिम संस्कार
स्थानीय डिप्टी कमिश्नर के मुताबिक सरकार ने मांगें मान ली हैं. उनके मुताबिक पूरे मामले की जांच के लिए सरकार तैयार है और इसके अलावा जो भी मांग हैं उन्हें कानून के दायरे में रह कर पूरा करने की कोशिश की जाएगी.
News18Hindi
Updated: June 24, 2019, 8:01 PM IST
डेरा सच्चा सौदा समर्थक महिंदर पाल सिंह उर्फ बिट्टू का अंतिम संस्कार करने को उनके परिवारीजन राजी हो गए हैं. परिवारवालों की मांग थी कि बिट्टू पर से धर्मग्रंथ के अपमान का मामला वापस लिया जाए और हत्या की जांच की जाए. स्थानीय डिप्टी कमिश्नर के मुताबिक, सरकार ने मांगें मान ली हैं. उनके मुताबिक पूरे मामले की जांच के लिए सरकार तैयार है और इसके अलावा जो भी मांगें हैं, उन्हें कानून के दायरे में रह कर पूरा करने की कोशिश की जाएगी. परिवार की जो भी मांगें थीं, उसका मेमोरेंडम पंजाब सरकार को भेजा जाएगा.

SIT का गठन
गौरतलब है कि राज्य की हाई सिक्योरिटी नाभा जेल में बिट्टू की बीते शनिवार को हत्या कर दी गई थी. वो धर्मग्रंथ के अपमान के केस में बंद थे. बिट्टू डेरा सच्चा सौदा के समर्थक थे. हत्या के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया है. पुलिस ने डेरा के समर्थकों की गिरफ्तारी भी की है. राज्य सरकार ने इस मामले में SIT का गठन किया है. ये टीम एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ईश्वर सिंह की अगुवाई में जांच करेगी. गौरतलब है कि पंजाब के बरगाड़ी में धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी मामले के मुख्य आरोपी महिंदर पाल सिंह उर्फ बिट्टू (उम्र 49 वर्ष) की नाभा जेल में दो कैदियों ने शनिवार को कथित तौर पर हत्या कर दी थी.

पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई

मामले में पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई भी हुई है. असिस्टेंट जेल सुपरिटेंडेंट और दो जेल वॉर्डन को निलंबित कर दिया गया है. इसके अलावा जेल सुपरिटेंडेंट को भी निलंबित करने के आदेश दिए गए हैं.

लोहे की रॉड से किया गया हमला
जेल अधिकारी ने बताया कि महिंदर सिंह पर जेल में बंद दो अन्य कैदियों की तरफ से हमला किया गया था. जेल अधिकारी के मुताबिक, जेल में उसारी का काम चल रहा था, वहां पड़े लोहे की रॉड से कैदी महेंदर सिंह और गुरसेवक सिंह ने मोहिंदर सिंह पर हमला कर दिया.
इलाज के दौरान अस्पताल में हुई मौत
जेल अधिकारी ने बताया कि इस हमले में महिंदर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे गंभीर हालत में जेल प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई. वारदात में शामिल कैदियों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है.
ये भी पढ़ें:

सिरसा डेरा प्रमुख राम रहीम को जल्द मिल सकती है पैरोल: सूत्र

तीन तलाक को न मानने पर सुसराल वालों ने किया हुक्का-पानी बंद

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...