लाइव टीवी

विवादित नागरिकता कानून को जल्द से जल्द वापस लें नरेंद्र मोदी: अमरिंदर सिंह

भाषा
Updated: December 16, 2019, 1:52 PM IST
विवादित नागरिकता कानून को जल्द से जल्द वापस लें नरेंद्र मोदी: अमरिंदर सिंह
धार्मिक आधार पर देश के लोगों को विभाजित करने वाला नागरिकता संशोधन कानून अवैध एवं अनैतिक है. (फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने पीएम नरेंद्र मोदी से मांग की है कि वे नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को जल्द से जल्द वापस लें. उन्होंने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हरसंभव कदम उठाने की भी अपील की.

  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने सोमवार को ट्वीट कर पीएम नरेंद्र मोदी से नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को रद्द करने की मांग की. उन्होंने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के बाद हुई हिंसा की स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हरसंभव कदम उठाने की भी अपील की.

रविवार को डीटीसी की 4 बसों और 2 पुलिस वाहनों में लगा दी गई थी आग
गौरतलब है कि दिल्ली में रविवार को नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों की जामिया मिल्लिया इस्लामिया के समीप न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में पुलिस के साथ झड़प हो गई. प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की चार बसों और दो पुलिस वाहनों में आग लगा दी. झड़प में छात्रों, पुलिसकर्मियों और दमकलकर्मयों समेत करीब 60 लोग घायल हो गए.


हालात को और बिगड़ने से रोकने की अपील की
सिंह ने ट्वीट कर कहा कि, ‘दिल्ली से सीएए के खिलाफ जारी प्रदर्शन की खबरों से व्यथित हूं... (गृह मंत्री) अमित शाह और (दिल्ली के मुख्यमंत्री) अरविंद केजरीवाल से स्थिति को नियंत्रण में लाने तथा हालात को और बिगड़ने से रोकने के लिए हरसंभव कदम उठाने की अपील करता हूं.’ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से ‘जल्द से जल्द विवादित कानून को वापस लेने’ की अपील भी की.

यह कानून भारत के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप पर सीधा हमला हैकैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को कहा कि नागरिकता संशोधन कानून भारत के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप पर सीधा प्रहार है और संसद के पास संविधान को बिगाड़ने और उसके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करने वाले कानून को पारित करने का कोई ‘अधिकार नहीं’ है.

धार्मिक आधार पर देश के लोगों को विभाजित करने वाला कानून अवैध और अनैतिक
अमरिंदर सिंह ने कहा था कि कोई भी कानून जो ‘धार्मिक आधार पर देश के लोगों को विभाजित करता हो, वह अवैध एवं अनैतिक है और इसे बनाए रखने की अनुमति नहीं दी जा सकती है.’

ये भी पढे़ं - 

हाड़ कंपाने वाली ठंड में शर्ट उतारकर जामिया के छात्रों ने किया प्रदर्शन

पुलिस कार्रवाई से जामिया का विश्वास हिला, हम FIR कराएंगे: VC नजमा अख्तर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 1:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर