सिधाना के भाई के साथ मारपीट को लेकर सिद्धू ने अमरिंदर सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

सिद्धू ने कहा है कि पंजाब पुलिस के होते हुए सिधाना के भाई के साथ मारपीट का मामला शर्मनाक है. फाइल फोटो

सिद्धू ने कहा है कि पंजाब पुलिस के होते हुए सिधाना के भाई के साथ मारपीट का मामला शर्मनाक है. फाइल फोटो

Lakha Sidhana: गैंगस्टर से एक्टिविस्ट बने लक्खा सिधाना पर गणतंत्र दिवस के दिन किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली में हिंसा फैलाने का आरोप है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 8:24 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. लक्खा सिधाना (Lakha Sidhana) के चचेरे भाई गुरदीप सिंह से दिल्ली पुलिस द्वारा की गई कथित मारपीट के मामले में पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Former minister Navjot Singh Sidhu) ने अपनी ही सरकार पर कई सवाल उठाए हैं. वह इस मामले में पूरी तरह से लक्खा सिधाना के पक्ष में उतर आए हैं. सिद्धू ने कहा है कि पंजाब पुलिस (Punjab Police) के होते हुए सिधाना के भाई के साथ मारपीट का मामला शर्मनाक है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस का पंजाब (Punjab) में आकर मारपीट करना पंजाब के अधिकारों का हनन है. सिद्धू ने कहा कि जब सिधाना के भाई के साथ मारपीट हुई तो पंजाब पुलिस क्या कर रही थी. उन्होंने सवाल किया कि यह सब किसकी शय पर हुआ है. लक्खा सिधाना ने आरोप लगाया है कि उसक चचेरे भाई गुरदीप सिंह को दिल्ली पुलिस ने अवैध तरीके से पटियाला में हिरासत में लिया और उसके साथ मारपीट की.

पटियाला से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) उसे उठाकर चंडीगढ़ ले गई जहां पर उसकी पिटाई करने के बाद उसे गंभीर अवस्था में अंबाला छोड़ दिया गया. लक्खा और गांव के लोगों ने बीते शनिवार देर रात गुरदीप को अस्पताल में भर्ती करवाया है.

गुरदीप सिंह लॉ का छात्र है. वह 8 अप्रैल को पटियाला परीक्षा देने गया हुआ था. वहां पर दिल्ली पुलिस ने उसे जबरन उठा लिया. इसके बाद उसे वे चंडीगढ़ ले गए. उसको टॉर्चर किया और बुरी तरह से पीटा गया. उसके बाद उसे अंबाला में अधमरी हालत में छोड़ गए. गौरतलब है कि गैंगस्टर से एक्टिविस्ट बने लक्खा सिधाना पर गणतंत्र दिवस के दिन किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली में हिंसा फैलाने का आरोप है.


बता दें कि 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के बाद से दिल्ली पुलिस को अभी भी कुछ आरोपियों की तलाश है. लक्खा सिधाना इनमें से एक है. लक्खा सिधाना पर 1 लाख रुपए का इनाम भी रखा गया है और पुलिस की फाइलों में लक्खा इस वक्त फरार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज