लाइव टीवी

बिजली मंत्री बनने के दिन से ‘गायब’ हैं सिद्धू, अहमद पटेल से मिले CM अमरिंदर सिंह

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 29, 2019, 3:59 PM IST
बिजली मंत्री बनने के दिन से ‘गायब’ हैं सिद्धू, अहमद पटेल से मिले CM अमरिंदर सिंह
अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो).

सिद्धू ने पिछले दिनों फेसबुक लाइव कर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से गिले-शिकवे दूर किए थे. उन्होंने कहा था कि पंजाब सरकार में कई मंत्री हैं लेकिन उंगली सिर्फ उन पर ही क्‍यों उठाई जा रही है. सिद्धू ने कैप्‍टन को अपना बड़ा भाई बताया और उनसे अपनी गलती पूछी.

  • Share this:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और उनके कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच राजनीतिक तल्खी सुर्खियों में है. राज्य के नए बिजली मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को नया विभाग मिले हुए 22 दिन हो गए हैं, लेकिन सिद्धू तब से गायब हैं. पंजाब सरकार ने उनके दफ्तर के बाहर उनके नाम की तख्ती टांग दी है, लेकिन सिद्धू हैं कि दफ्तर आने का नाम नहीं ले रहे हैं.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू की गैरहाजिरी के चलते पिछले दिनों खुद ही बिजली विभाग की बैठक ली थी. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ लीडर अहमद पटेल से मुलाकात की है.

सिद्धू को ठहराया था जिम्मेदार
पंजाब में कांग्रेस को लोकसभा चुनाव 2019 में जिन 5 लोकसभा सीटों पर हार मिली है उसे लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के शहरी निकाय मंत्रालय के खराब कामकाज को जिम्मेदार ठहराया था. जबकि इस बारे में सिद्धू का कहना है कि जिन लोकसभा सीटों पर कांग्रेस को हार मिली है उसकी जिम्‍मेदारी सामूहिक है. सिद्धू ने कहा था कि हार के लिए पंजाब में पूरी पार्टी जिम्मेदार है. सिर्फ उन्हें ही जिम्मेदार नहीं ठहराया जाए. लिहाजा वो मीटिंग में शामिल नहीं होंगे.

हाल ही में फेसबुक लाइव कर किए थे गिले-शिकवे दूर
सिद्धू ने हाल ही में फेसबुक लाइव कर मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से गिले-शिकवे दूर किए थे. उन्होंने कहा था कि पंजाब सरकार में कई मंत्री हैं लेकिन उंगली सिर्फ उन पर ही क्‍यों उठाई जा रही है. सिद्धू ने कैप्‍टन सिंह को अपना बड़ा भाई बताया और उनसे अपनी गलती पूछी.

इस लाइव में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, 'सरकार में कई मंत्री और कई विभाग हैं लेकिन उंगली सिर्फ मुझ पर उठ रही है. मैंने कभी किसी पर उंगली नहीं उठाई. मैंने कभी किसी का नाम लेकर सवाल नहीं उठाए. मैंने उफ्फ तक नहीं की लेकिन बोलने वाले वही 6-7 लोग होते हैं और कहते हैं कि सिद्धू कौन है? फिर भी सीएम कैप्टन जो फैसला लेना चाहें, उनकी मर्जी है लेकिन मेरी गलती भी बताएं. कैप्टन साहब मेरे बड़े भाई हैं और वो मेरे सिर पर ही पैर रख रहे हैं.'
Loading...

ये भी पढ़ें - 

  • पंजाब पुलिस ने अब की कैदियों पर सख्त कार्रवाई

  • पंजाब की जेलों की सुरक्षा अब CRPF के जिम्मे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 29, 2019, 1:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...