होम /न्यूज /पंजाब /पंजाब में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू, जानें किसानों के लिए मंडियों में किए गए क्या खास इंतजाम

पंजाब में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू, जानें किसानों के लिए मंडियों में किए गए क्या खास इंतजाम

Punjab Latest News: न्यूनतम समर्थन मूल्य पर पंजाब में शनिवार से धान की खरीदी शुरू हो गई है. (फाइल फोटो)

Punjab Latest News: न्यूनतम समर्थन मूल्य पर पंजाब में शनिवार से धान की खरीदी शुरू हो गई है. (फाइल फोटो)

Paddy procurement in Punjab: शनिवार से पंजाब (Punjab News) में धान खरीदी (Dhan Kharidi) शुरू हो गई. भारत सरकार की तरफ स ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पंजाब में शनिवार से धान की खरीद शुरू
भारत सरकार की तरफ से निर्धारित किए गए न्यूनतम समर्थन पर होगी खरीदी
किसानों की सुविधा के लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम बनाए गए हैं

एस. सिंह

चंडीगढ़. पंजाब में शनिवार से धान की खरीद शुरू हो गई है.  खरीफ सीजन के 2022-23 के दौरान  भारत सरकार की तरफ से निर्धारित किए गए न्यूनतम समर्थन मूल्य 2060/- के प्रति क्विंटल धान की फसल ग्रेड-ए और 2040/- प्रति क्विंटल धान की फसल कॉमन वैरायटी पर खरीद की जाएगी. सिविल सप्लाई और उपभोक्ता मामले के मंत्री लाल चंद कटारूचक्क ने कहा है कि धान की खरीद तारीख 1 अक्टूबर से शुरू होगी, जो 30 नवंबर तक चलेगी. भारत सरकार की तरफ से सरकारी खरीद एजेंसियों के लिए कुल 184.45 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जबकि राज्य सरकार की तरफ से कुल 191 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद के जरूरी प्रबंध मुकम्मल कर लिए गए हैं.

विभाग के प्रमुख सचिव राहुल भंडारी ने बताया कि खरीफ सीजन 2022-23 के दौरान पंजाब मंडी बोर्ड की तरफ से 1804 रिवायती मंडियां नोटिफाई की गई हैं और सीजन के दौरान भीड़-भाड़ की स्थिति से बचने के लिए 364 अस्थायी मंडियां नोटिफाई की गई हैं. धान की खरीद के लिए जरूरी बारदाने के मुकम्मल प्रबंध कर लिए गए हैं.

किसानों के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम

सिविल सप्लाई और उपभोक्ता मामले के मंत्री ने बताया कि किसानों की सुविधा के लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम और शिकायत निवारण करने कमेटियां बनाई गई हैं जिस दौरान प्राप्त हुई शिकायतों का मौके पर ही निपटारा किया जाएगा. विभाग की तरफ से मुख्य कार्यालय के स्तर पर भी किसानों की शिकायतों के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है जिससे किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी भी तरह की कोई मुश्किल पेश न आए.

ये भी पढ़ें: PM Kisan Yojana: अब आधार कार्ड से किसान नहीं देख पाएंगे अपना स्‍टेटस, अब अपनाना होगा यह तरीका

उन्होंने यह भी कहा कि अक्टूबर महीने के लिए आरबी आई की तरफ से 36,999 करोड़ रुपये की कैश क्रेडिट लिमिट पंजाब सरकार को पहले ही मंजूर की जा चुकी है. लेबर और ट्रांसपोर्ट के मुकम्मल प्रबंध कर लिए गए हैं और सम्बन्धित ठेकेदारों को पालिसी अनुसार लिफ्टिंग करने की हिदायत जारी की जा चुकी हैं.

Tags: Paddy crop, Punjab

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें