माता-पिता को बारात में किया शामिल, फिर अकेले ट्रैक्टर पर बिठाकर ले आया दुल्हन

बटाला के गांव चंदूसूजा के रहने वाला युवा किसान हरजिंदर सिंह  खुद ट्रैक्टर चलाकर अपनी बारात लेकर आया था.

बटाला के गांव चंदूसूजा के रहने वाला युवा किसान हरजिंदर सिंह  खुद ट्रैक्टर चलाकर अपनी बारात लेकर आया था.

बटाला के गांव चंदूसूजा के रहने वाला युवा किसान हरजिंदर सिंह  खुद ट्रैक्टर चलाकर अपनी बारात लेकर आया था. बारात मात्र तीन लोगों की ही थी. दूल्हे हरजिंदर सिंह का कहना है कि उसकी शादी दियालगढ़ की रहने वाली युवती रुकसाना के साथ नौशहरा मज्झा सिंह इलाके में हुई. वह शादी के बाद वह अपनी पत्नी को ट्रैक्टर पर बिठाकर घर लाया.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब में कोविड के दौरान लगी पाबंदियों (Restrictions of Covid) के चलते लोगों के रहन-सहन (Lifestyle) में काफी बदलाव आया है. राज्य में जहां कोविड के नियमों का उल्लंघन (Violation of rules) भी हो रहा है, वहीं दूसरी और इन नियमों का पालन जनहित में सख्ती से पालन कर रहे हैं. हाल ही में बटाला में एक युवक अपनी बारात अकेले ट्रैक्टर (Tractor) पर लेकर निकला दसके पीछे मोटरसाइकिल (Motorcycle) में उसके माता-पिता थे.

जानकारी के मुताबिक बटाला के गांव चंदूसूजा के रहने वाला युवा किसान हरजिंदर सिंह  खुद ट्रैक्टर चलाकर अपनी बारात लेकर आया था. बारात मात्र तीन लोगों की ही थी. दूल्हे हरजिंदर सिंह का कहना है कि उसकी शादी दियालगढ़ की रहने वाली युवती रुकसाना के साथ नौशहरा मज्झा सिंह इलाके में हुई. वह शादी के बाद वह अपनी पत्नी को ट्रैक्टर पर बिठाकर घर लाया.

राज्य में अभी भी जारी है पाबंदियां

पंजाब सरकार (Punjab government) ने राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus infection) को फैलने से रोकने के लिए लागू की गईं पाबंदियों को 31 मई तक की हैं. पंजाब में कोविड-19 के नए मामलों में लगातार हो रही वृद्धि और मृत्यु दर में इजाफा होने के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है. राज्य में कोविड रोधी प्रतिबंधों को कड़ाई से लागू करने के लिए दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं. कोविड-19 प्रतिबंधों के दौरान जिलाधिकारी (District Magistrate) ही दुकानों को खोलने का समय तय करेंगे और उन पर ही कोरोना संक्रमण को, विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों में फैलने से रोकने के लिए प्रतिबंधों को लागू कराने की जिम्मेदारी है.
जिलाधिकारी स्थानीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रतिबंधों के नियमों में बदलाव भी कर सकते हैं. राज्य में कोविड-19 के मामलों में  प्रतिबंधों के कारण कोरोना संक्रमण के नए मामलों में कमी आई है. अंतिम संस्कार एवं शादियों को छोड़कर सभी सामाजिक जमावड़े पर पूर्ण पाबंदी लगाई गई है. अंतिम संस्कार एवं शादियों में भी 20 लोगों को ही इजाजत है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज