नए कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शनकारी किसान ने की खुदकुशी

पंजाब में किसान नए कृषि बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.
पंजाब में किसान नए कृषि बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

कृषि संबंधी नए विधेयकों (New agricultural bills) के खिलाफ पंजाब में किसानों का विरोध(protest) जारी है. इस दौरान एक किसान ने जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी (Suicide) कर ली. वहीं भारतीय किसान यूनियन ने प्रशासन से मृतक किसान के परिवार को मुआवजा देने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 3:52 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मुक्तसर जिले में कृषि संबंधी नए विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है. इस दौरान 70 साल के एक किसान ने विरोध प्रदर्शन करते हुए जहरीला पदार्थ खा लिया. हालत बिगड़ने पर किसान को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. केंद्र सरकार के कृषि बिल के खिलाफ पंजाब में किसानों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है. शुक्रवार को पंजाब के बादल गांव में एक किसान ने प्रदर्शन स्थल पर जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की थी. जिसके बाद उसे बादल गांव के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया. किसान की हालत गंभीर होने के चलते उसे बठिंडा के मैक्स हॉस्पिटल ले जाया गया. जहां किसान की इलाज के दौरान मौत हो गई.

आपको बता दें बादल गांव पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का पैतृक गांव है. यहां किसान छह दिन से केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए तीन कृषि बिलों के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल घर के ठीक बाहर धरने पर बैठे हैं. जानकारी के मुताबिक, 70 वर्षीय किसान ने शुक्रवार सुबह साथी किसानों को जहरीला पदार्थ खाने के बारे में बताया. इस पर किसानों ने तुरंत एम्बुलेंस को फोन किया और प्रदर्शन स्थल के पास तैनात पुलिस अधिकारियों को भी सूचना दी. पुलिस किसान को बादल गांव के एक अस्पताल में ले गई. जहां किसान की हालत गंभीर बताई गई. जिसके बाद उसे बठिंडा के मैक्स हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया. जहां किसान की इलाज के दौरान मौत हो गई.

भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के राज्य सचिव शिंगारा सिंह मान ने कहा कि, लोकसभा में कृषि बिल के पारित होने से किसान परेशान हैं. उन्हें डर है कि बिल से किसानों को भारी नुकसान होगा. वहीं भारतीय किसान यूनियन के महासचिव सुखदेव सिंह ने मांग करते हुए कहा कि, मृतक किसान पर कर्ज था. जिसके चलते उसने यह कदम उठाया, ऐसे में प्रशासन की ओर से मृतक के परिवार को मुआवजा दिया जाना चाहिए.



हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दिया
किसान लगातार कृषि बिल के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करे हुए थे. बिल के लागू होते ही किसानों ने पंजाब में प्रदर्शन तेज कर दिया. इसी बीच गुरुवार को केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दे दिया.

PM मोदी बोले- गुमराह किया जा रहा है
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई हैं. मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वस्त करता हूं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज