Home /News /punjab /

punjab aap starts investigation into the rs 80 crore rural development scam begins punss

Rural Development Scam: AAP के सत्ता में आते ही 80 करोड़ रुपये के ग्रामीण विकास घोटाले की जांच शुरू

भगवंत सिंह मान ने भ्रष्टाचार के मामलों से निपटने के लिए जहां व्हाट्सएप नंबर जारी करने का ऐलान किया है वहीं ड्रग्स के मामलों से निपटने के लिए भी कार्रवाई शुरू कर दी है. (फाइल फोटो)

भगवंत सिंह मान ने भ्रष्टाचार के मामलों से निपटने के लिए जहां व्हाट्सएप नंबर जारी करने का ऐलान किया है वहीं ड्रग्स के मामलों से निपटने के लिए भी कार्रवाई शुरू कर दी है. (फाइल फोटो)

Rural Development Scam: कथित तौर पर पंजाब के पटियाला जिले के शंभू ब्लॉक में पांच ग्राम पंचायतों को जमीन अधिग्रहण के लिए दिए गए 260 करोड़ मुआवजे में से 80 करोड़ रुपए की राशि के गबन करने के आरोप लगे थे. पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने रुपये की जांच शुरू कर दी है.

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने सत्ता संभालते ही भ्रष्टाचार के मामलों (corruption cases) की फाइलों को खोलकर इनकी जांच दोबारा से शुरू कर दी है. इसी कड़ी में सरकार के निर्देशों पर पंजाब विजिलेंस ब्यूरो (Punjab Vigilance Bureau) ने पटियाला के शंभू ब्लॉक में एक हजार एकड़ जमीन के अधिग्रहण में 80 करोड़ रुपये के ग्रामीण विकास घोटाले की जांच शुरू की है.

कथित तौर पर पंजाब के पटियाला जिले के शंभू ब्लॉक में पांच ग्राम पंचायतों को जमीन अधिग्रहण के लिए दिए गए 260 करोड़ मुआवजे में से 80 करोड़ रुपए की राशि के गबन करने के आरोप लगे थे. पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने रुपये की जांच शुरू कर दी है. 260 करोड़ रुपये के मुआवजे में से कथित तौर पर राशि के गबन के इस मामले में पैसे को खर्च करने के लिए न तो तकनीकी मंजूरी ली गई और न ही सक्षम प्राधिकारी से कोई अनुमति ली गई थी.

एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए सतर्कता ब्यूरो (वीबी) ने संबंधित अधिकारियों, व्हिसल ब्लोअर के बयान दर्ज करने शुरू कर दिए हैं और उन पांच गांवों के बैंक स्टेटमेंट को अपने कब्जे में ले लिया है जहां से धन की हेराफेरी की गई थी. गांवों में तख्तपुरा, सेहरा, सेहरी, आकरी, पाबरा शामिल हैं. एसएसपी वीबी मनदीप सिंह सिद्धू ने कहा कि विजिलेंस ब्यूरो ने जांच शुरू कर दी है और प्राथमिकी दर्ज करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा, क्योंकि प्रथम दृष्टया में सरकारी अधिकारियों, सरपंचों और अन्य निर्वाचित प्रतिनिधियों की मिलीभगत है.

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने भ्रष्टाचार के मामलों से निपटने के लिए जहां व्हाट्सएप नंबर जारी करने का ऐलान किया है वहीं ड्रग्स के मामलों से निपटने के लिए भी कार्रवाई शुरू कर दी है. सरकार ने शिअद नेता और पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ ड्रग मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) के पुनर्गठन का आदेश दिया है.

इस मामले में अब अपराध शाखा के पुलिस महानिरीक्षक, गुरशरण सिंह संधू, जो अपने व्यावसायिकता और स्वच्छ सेवा रिकॉर्ड के लिए जाने जाते हैं, एआईजी डॉ राहुल एस की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय टीम के कामकाज की निगरानी करेंगे. टीम के अन्य सदस्य एआईजी रंजीत सिंह और डीएसपी रघबीर सिंह और अमनप्रीत सिंह शामिल हैं.

Tags: Bhagwant Mann, Scam

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर