Home /News /punjab /

सिंघु बार्डर हिंसा: CM अमरिंदर बोले- यही चाहता है पाक, केंद्र गहराई से जांच करवाए

सिंघु बार्डर हिंसा: CM अमरिंदर बोले- यही चाहता है पाक, केंद्र गहराई से जांच करवाए

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (फाइल फोटो)

Farmers Protest: अमरिंदर सिंह ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि किसान हिंसा में शामिल थे... मैंने कई बार चेतावनी दी है कि पाकिस्तान घुसपैठ की कोशिश कर रहा है. मैं बहुत लंबे समय से चेतावनी दे रहा हूं.'

    नई दिल्‍ली. पंजाब (Punjab) के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने सिंघु बार्डर पर हुई हिंसा की निंदा की. अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से इस मामले की गहराई से जांच कराने की भी अपील की. मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सुनियोजित तरीके से किसानों और उनके सम्‍मान पर हमला किया गया है. उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान जो चाहता है वही हो रहा है. अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि किसान हिंसा में शामिल थे… मैंने कई बार चेतावनी दी है कि पाकिस्तान घुसपैठ की कोशिश कर रहा है. मैं बहुत लंबे समय से चेतावनी दे रहा हूं.’ उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान पंजाब की अमन-शांति भंग करने के लिए इस मुद्दे पर बेचैनी पैदा करने की कोशिश कर रहा है.

    अमरिंदर सिंह ने कहा क‍ि देश की खुफिया एजेंसियां यह पता लगाए कि इस हमले के पीछे कौन लोग थे. उन्‍होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि स्‍थानीय लोग किसानों के साथ ऐसा व्‍यवहार कर सकते हैं. लाल किले पर हुई हिंसा को लेकर किसानों को बदनाम करना बंद कर देना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि अगर किसानों को ऐसे ही बदनाम किया जाता रहा तो पंजाब के जवानों का मनोबल भी टूट जाएगा.

    किसान संगठनों ने पंजाब, हरियाणा में किसानों को सीमाओं पर जाने के लिए लामबंद करना शुरू किया
    किसान संगठनों ने शुक्रवार को पंजाब और हरियाणा के किसानों को दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए लामबंद करना शुरू कर दिया. वहीं, शिरोमणि अकाली दल और इनेलो जैसे राजनीतिक दलों ने भी किसानों का साथ देने की घोषणा की. किसान नेताओं ने दावा किया कि जींद, हिसार, भिवानी और रोहतक सहित हरियाणा के कई हिस्सों से किसानों ने केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली की सीमाओं की ओर बढ़ना शुरू कर दिया है.

    ये भी पढ़ें: Farmer Protest: तमिलनाडु के किसान संगठन बोले- आंदोलन से नहीं निकलेगा कोई समाधान

    ये भी पढ़ें: किसानों को गाजीपुर जाने से रोकने के लिए ग्रेटर नोएडा पुलिस इस प्लान पर कर रही है काम!

    इन लोगों का कहना है कि किसान नेताओं के खिलाफ सरकार के कदम से उनका आंदोलन कमजोर नहीं होगा. भारतीय किसान यूनियन (चडूनी) के एक नेता ने कहा कि हरियाणा में कई खाप पंचायतों ने बैठकें कीं और किसान आंदोलन को समर्थन देने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि कई गांवों ने प्रदर्शन में अपनी ट्रैक्टर ट्रॉली भेजने का फैसला किया है. शिरोमणि अकाली दल ने आज अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे दिल्ली की सीमाओं पर तीन प्रदर्शन स्थलों पर आंदोलन को मजबूती देने के लिए बड़ी संख्या में पहुंचें. कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे और राकेश टिकैत से मिलकर किसानों के प्रति एकजुटता व्यक्त की.

    नए कृषि कानूनों के विरोध में विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे चुके इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा कि वह शनिवार को गाजीपुर प्रदर्शन स्थल पर जाएंगे और टिकैत तथा किसानों के साथ एकजुटता व्यक्त करेंगे.

    Tags: Amrinder singh, Farmers Protest, Government

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर