लाइव टीवी

अमृतसर हादसे के दो दिन बाद इजराइल पहुंचे CM अमरिंदर सिंह, करेंगे ये समझौते
Chandigarh-Punjab News in Hindi

भाषा
Updated: October 22, 2018, 10:44 AM IST
अमृतसर हादसे के दो दिन बाद इजराइल पहुंचे CM अमरिंदर सिंह, करेंगे ये समझौते
कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

सिंह कृषि, वानिकी, डेयरी और दूषित जल शोधन के क्षेत्र में काम करने वाली विभिन्न कंपनियों और संस्थानों का दौरा करेंगे ताकि पंजाब की जरूरतें पूरी करने वाले मौकों का लाभ लिया जा सके.

  • Share this:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पांच दिन की इजराइल यात्रा पर रविवार की शाम पहुंचे. अपनी इस यात्रा के दौरान उनका लक्ष्य कृषि, वानिकी (पेड़ पौधों और वनों आदि की जानकारी देने वाला विज्ञान) और डेयरी के क्षेत्र में आपसी सहयोग को मजबूत करना है. सिंह के साथ अधिकारियों का एक शिष्टमंडल भी आया है. बता दें कि अमृतसर में शुक्रवार को हुए भयावह ट्रेन हादसे में 61 लोगों की मौत हो गई थी. अमरिंदर सिंह को शुक्रवार रात ही इजराइल के लिए निकलना था लेकिन हादसे के कारण उन्होंने अपना दौरा दो दिन के लिए टाल दिया.

सिंह कृषि, वानिकी, डेयरी और दूषित जल शोधन के क्षेत्र में काम करने वाली विभिन्न कंपनियों और संस्थानों का दौरा करेंगे ताकि पंजाब की जरूरतें पूरी करने वाले मौकों का लाभ लिया जा सके. साथ ही वह पंजाब की आंतरिक सुरक्षा मजबूत बनाने के लिहाज से भी इजराइली अधिकारियों के साथ चर्चा करेंगे.

इस यात्रा पर रवाना होने से पहले पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा था कि उनकी सरकार इजराइल की ओर से मिलने वाली आधुनिक तकनीकी का लाभ उठाना चाहेगी. यहां मंगलवार को 'पंजाब में निवेश के अवसर' गोष्ठी का आयोजन किया गया है. इसका लक्ष्य इजराइल से पंजाब में निवेश आकर्षित करना है.

ये भी पढ़ें: पंजाब की सभी 13 संसदीय सीटों पर चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी: केजरीवाल

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) कृषि के क्षेत्र में सहयोग के लिए तेल अवीव विश्वविद्यालय और गैलिली इंस्टीट्यूट के साथ सहमति-पत्रों पर हस्ताक्षर करेगा. वहीं देश की यात्रा पर आया शिष्टमंडल जल संरक्षण के क्षेत्र में एक सहमति-पत्र पर हस्ताक्षर करेगा.

ये भी पढ़ें: तेलंगाना में चुनाव प्रचार करेंगे पंजाब CM अमरिंदर सिंह

सिंह लगातार इस बात पर जोर दे रहे हैं कि पंजाब के किसानों को सिर्फ धान एवं गेहूं की खेती नहीं करके अपनी फसलों में बदलाव लाना चाहिए. उन्हें राज्य के लगातार गिरते जलस्तर को ध्यान में रखते हुए ड्रिप इरीगेशन (बूंदों के जरिए होने वाली सिंचाई) और हाइड्रोपोनिक्स पर ध्यान देना चाहिए.अपनी यात्रा से पहले इजराइली शिष्टमंडल के साथ हुई मुलाकात में सिंह ने डेयरी के क्षेत्र में इजराइली तौर-तरीके अपनाने में दिलचस्पी दिखाई थी. पंजाब खट्टे फलों के उत्पादन और उनकी गुणवत्ता बढ़ाने में इजराइल की मदद चाहता है. पंजाब पहले ही देश में 'कीनू' का सबसे बड़ा उत्पादक है और अब वह मीठे संतरों की बागवानी भी करना चाहता है. बाजार में मीठे संतरों की मांग और कीमत दोनों अच्छे हैं.

सिंह के नेतृत्व वाले शिष्टमंडल के समक्ष आंतरिक सुरक्षा के संबंध में इजराइली विशेषज्ञता पर एक प्रस्तुति दी जाएगी और यात्रा के दौरान वे लोग इजराइल की बड़ी सुरक्षा कंपनी की अकादमी का दौरा भी करेंगे. मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में इजराइल के राष्ट्रपति रूवेन रिवलिन, कृषि मंत्री उरी एरियन और ऊर्जा तथा जल संसाधन मंत्री युवाल स्टेनित्ज से मिलना शामिल है. वह हाइफा की आजादी के लिए 1918 में हुई लड़ाई के दौरान शहीद हुए भारतीय सैनिकों की समाधि पर भी जाएंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2018, 10:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर