CM अमरिंदर ने गृह मंत्री को बताया- पंजाब में सभी रेल ट्रैक खाली, संचालन के लिए स्थिति अनुकूल

पंजाब मालगाड़ियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गृह मंत्री अमित शाह से बातचीत की है (File Photo)
पंजाब मालगाड़ियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गृह मंत्री अमित शाह से बातचीत की है (File Photo)

Farm Laws: पंजाब मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया कि कैप्टन अमरिंदर ने गृह मंत्री को जानकारी दी कि किसानों ने मालगाड़ियों की आवाजाही के लिए सभी ट्रैक खाली कर दिए हैं. उन्होंने कहा कि माल की सुरक्षित ढुलाई के लिए पंजाब की जमीनी स्थिति पूरी तरह से शांतिपूर्ण और अनुकूल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 9:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पंजाब (Punjab) में कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों (Farmers) के आंदोलन के बीच मालगाड़ियों की सुरक्षित आवाजाही की बहाली के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Captain Amarinder Singh) ने गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) से बातचीत की है. पंजाब मुख्यमंत्री कार्यालय (Punjab Chief Minister Office) की ओर से रविवार को बताया गया कि राज्य में सुचारू और सुरक्षित मालगाड़ियों की आवाजाही के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बातचीत करके इस मामले में दखल देते हुए रेल सेवाओं की बहाली सुनिश्चित करने की मांग की है. अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह इस मुद्दे के समाधान के लिए आशान्वित हैं.

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया कि कैप्टन अमरिंदर ने गृह मंत्री को जानकारी दी कि किसानों ने मालगाड़ियों की आवाजाही के लिए सभी ट्रैक खाली कर दिए हैं. उन्होंने कहा कि माल की सुरक्षित ढुलाई के लिए पंजाब की जमीनी स्थिति पूरी तरह से शांतिपूर्ण और अनुकूल है. इससे पहले रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा था कि पंजाब में ट्रेन सेवा बहाल करने के पहले राज्य सरकार को रेलवे की संपत्तियों और कर्मियों की सुरक्षा का आश्वासन देना होगा और पटरियों से सभी प्रदर्शनकारियों को हटाना होगा.

ये भी पढ़ें- जो बाइडन 5 लाख से अधिक भारतीयों को दे सकते हैं अमेरिकी नागरिकता



प्रतिनिधिमंडल ने की थी रेल मंत्री से मुलाकात
गोयल ने भाजपा और कांग्रेस के अलग-अलग प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की. प्रतिनिधिमंडल ने पंजाब में ट्रेन सेवा बहाल करने के लिए गोयल से हस्तक्षेप करने का अनुरोध करते हुए कहा कि सेवा स्थगित रहने से राज्य की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है. सांसदों ने गोयल को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का एक पत्र सौंपा जिसमें उन्होंने रेलवे की संपत्ति की रक्षा का आश्वासन दिया.

संवाद के लिए तैयार सरकार
वहीं नए कृषि कानूनों के खिलाफ इस माह के अंत तक एक और विरोध प्रदर्शन की किसान संगठनों की योजना से पहले केंद्र सरकार ने शनिवार को कहा कि ये कानून किसानों के हित में लाए गए है पर उनके मन में अब भी कोई आशंका है तो वह उन शंकाओं को दूर करने के लिए उनके साथ संवाद करने को तैयार है.

ये भी पढ़ें- कंप्यूटर बाबा के आश्रम में लग्जरी बाथरूम, कार्रवाई में मिलीं तलवारें और बंदूक

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और खाद्य मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि केंद्र सरकार ने यह कानून किसानों को उनकी उपज का बेहतर दाम दिलाने के लिए और विकल्प उपलब्ध कराने को लाया है, लेकिन पंजाब जैसे राज्य इस मामले में किसानों को ‘गुमराह’ कर रहे हैं.

संसद के सितंबर में इन तीन कानूनों को पारित करने के बाद से कांग्रेस शासित राजस्थान, छत्तीसगढ और पंजाब में किसान इनका विरोध कर रहे हैं. इन तीनों राज्यों ने केंद्र के कानून को निष्प्रभावी बनाने के लिए अपने कानून लाए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज