• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • अब सिद्धू के सलाहकार गर्ग का विवादित बयान, कहा- विशेष सत्र बुलाकर कांग्रेस ने खेला धर्म कार्ड

अब सिद्धू के सलाहकार गर्ग का विवादित बयान, कहा- विशेष सत्र बुलाकर कांग्रेस ने खेला धर्म कार्ड

डा. गर्ग ने एक वेब पोर्टल पर चर्चा करते हुए बताया कि विधानसभा सत्र बुलाना कांग्रेस की मजबूरी थी (फ़ाइल फोटो)

Punjab Congress: डा. गर्ग ने एक वेब पोर्टल पर चर्चा करते हुए बताया कि विधानसभा सत्र बुलाना कांग्रेस की मजबूरी थी, लेकिन व्हिप जारी करके कांग्रेस ने विधायकों का सत्र में आना आवश्यक करके उनकी धार्मिक आजादी को छीनने की कोशिश की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. हाल ही के अपने अपने दौरे के दौरान पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत (Punjab Congress in-charge Harish Rawat) “आलॅ इज नॉट वेल” कहकर दिल्ली हाईकमान को अपनी रिपोर्ट सौंपने की बात कह कर चले गए. लेकिन अब उनके जाते ही एक बार फिर से प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (State President Navjot Singh Sidhu) के सलाहकार डा. प्यारा लाल गर्ग (Dr. Pyara Lal Garg) ने श्री गुरु तेग बहादुर (Shri Guru Tegh Bahadur) को समर्पित पंजाब विधानसभा के विशेष सत्र (Special session of the Punjab Legislative Assembly) पर बयानबाजी कर कैप्टन सरकार को संकट में डाल दिया है. उन्होंने इस सत्र के आयोजन को लेकर कहा है कि कांग्रेस ने एक दिन का सत्र बुलाकर संविधान के माध्यम से धर्म का कार्ड खेला है. विशेष सत्र में विधायकों को व्हिप जारी कर कांग्रेस सरकार ने लोकतंत्र का अपमान ही नहीं अपितु, संविधान के माध्यम से धार्मिक कट्‌टरपंथ को भी बढ़ावा दिया है.

    दैनिक जागरण ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि डा. गर्ग ने एक वेब पोर्टल पर चर्चा करते हुए बताया कि विधानसभा सत्र बुलाना कांग्रेस की मजबूरी थी, लेकिन व्हिप जारी करके कांग्रेस ने विधायकों का सत्र में आना आवश्यक करके उनकी धार्मिक आजादी को छीनने की कोशिश की गई.  उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस खुद को धर्मनिरपेक्ष पार्टी मानती है, जबकि उसने  संविधान के माध्यम से धर्म का कार्ड खेला. गर्ग ने जिक्र किया कि कल आरएसएस वाले भी ऐसा कर सकते हैं, फिर उन्हें कैसे गलत ठहराया जा सकता है. उन्होने यह भी कहा कि विधानसभा को धर्म से दूर रखने चाहिए.

    गौरतलब है कि  पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली को विवादित टिप्पणियों के कारण इस्तीफा देना पड़ा था. सिद्धू का सलाहकार बनते ही उन्होंने सोशल मीडिया में विवादित बयानो की झड़ी लगा दी थी. तालिबानी कार्रवाई को सही करार देना और कश्मीर को भारत का हिस्सा न कहने जैसे विवादित बयान सोशल मीडिया पर पोस्ट किए.  पूर्व प्रधानमंत्री स्व इंदिरा गांधी से जुड़े एक विवादित पोस्टर भी उन्होंने फेसबुक पर डाला. चौतरफा अलोचना होने के बाद उन्हें सलाहकार के पद से इस्तीफा देना पड़ा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज