• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • पंजाबः रेप केस में MLA बैंस के खिलाफ FIR दर्ज, हाईकोर्ट से भी नहीं मिली राहत

पंजाबः रेप केस में MLA बैंस के खिलाफ FIR दर्ज, हाईकोर्ट से भी नहीं मिली राहत

कोर्ट ने 14 पेजों के आदेश में कहा कि विधायक और उनके साथियों पर गंभीर आरोप लगे हैं. इसकी जांच पुलिस अच्छी तरह कर सकती है.

Rape Case against Simarjit Singh Bains: महिला ने दावा किया कि उसे बार-बार फोन कॉल और व्हाट्सएप संदेश मिले, जिसमें उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की मांग की गई और बैंस द्वारा बार-बार बलात्कार किया गया.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब के लुधियाना (Ludhiana) आत्म नगर के विधायक और लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख 51 वर्षीय सिमरजीत सिंह बैंस (MLA Simarjit Singh Bains) के खिलाफ सोमवार को लुधियाना में 45 वर्षीय महिला के साथ रेप करने का मामला दर्ज किया गया है. लुधियाना (Ludhiana) के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हरसिमरनजीत सिंह (Harsimranjit Singh) की अदालत ने पुलिस को एक 45 वर्षीय महिला की शिकायत पर बलात्कार के आरोप में लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख आत्म नगर निर्वाचन क्षेत्र के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया था. महिला ने विधायक सिमरनजीत बैंस और उनके कुछ साथियों के खिलाफ अदालत में पुलिस में केस दर्ज न होने को लेकर याचिका दर्ज की थी.

    कोर्ट ने 14 पेजों के आदेश में कहा कि विधायक और उनके साथियों पर गंभीर आरोप लगे हैं. इसकी जांच पुलिस अच्छी तरह कर सकती है. महिला को कोर्ट खुद सबूत जुटाने के लिए नहीं कह सकता. उधर इस एफआईआर को विधायक ने हाइकोर्ट में चुनौती देकर रद्द करने की मांग की है. लेकिन हाईकोर्ट से भी उन्हें इस मामले में कोई राहत नहीं मिली है. कोर्ट ने सोमवार को बैंस के मामले की सुनवाई करते हुए सरकार को नोटिस जारी किया और 15 जुलाई तक जवाब मांगा है.

    16 नवंबर, 2020 को महिला ने लुधियाना के बैंस, कमलजीत सिंह, बलजिंदर कौर, जसबीर कौर, सुखचैन सिंह, परमजीत सिंह और गोगी शर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पुलिस आयुक्त को एक आवेदन दिया था. महिला ने आरोप लगाया था कि वह एक संपत्ति विवाद में विधायक के संपर्क में आई थी, लेकिन वह फंस गई थी. उसने दावा किया कि उसे बार-बार फोन कॉल और व्हाट्सएप संदेश मिले, जिसमें उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की मांग की गई और बैंस द्वारा बार-बार बलात्कार किया गया.

    बैंस की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को लुधियाना के पुलिस आयुक्त कार्यालय के बाहर धरना भी दिया. उधर एफआईआर दर्ज होने के बाद बैंस की मुश्किलें बढ़ गई हैं. उनके विपक्षी दलों ने उन्हें इस मुद्दे पर घेरना शुरू कर दिया है. आगामी 2020 विधान सभा चुनाव में उन्हें इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज