पंजाब सरकार ने बढ़ती हुई महामारी में इमरजेंसी में नियुक्त किए 192 मेडिकल अधिकारी

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

Coronavirus Punjab: पंजाब सरकार ने कोवैक्स संस्थान के साथ जुडऩे का फ़ैसला किया, जिससे अच्छी कीमत पर कोविड के टीकों की खरीद के लिए वैश्विक स्तर पर पहुंच बनाई जा सके.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब में कोविड महामारी (Covid epidemic) की मौजूदा चिंताजनक स्थिति को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग (Health and Family Welfare Department) ने 192 मेडिकल अधिकारी नियुक्ति की है.स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ( Balbir Singh Sidhu ने कहा कि हालांकि स्वास्थ्य विभाग इस महामारी पर नियंत्रण पाने के लिए कुशलता से काम कर रहा है परन्तु कोविड मामलों की बढ़ रही संख्या के कारण हमें लोगों को सेवाएं मुहैया करवाने हेतु और अधिक स्टाफ की जरूरत है. इसलिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह(Chief Minister Captain Amarinder Singh) के दिशा-निर्देशों पर स्वास्थ्य विभाग अपने आप को जरुरी स्टाफ के साथ लैस करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहा है, जिससे हम जितनी जल्दी हो सके कोविड के विरुद्ध यह लड़ाई जीत सकें और मिशन फतेह को सफल बना सकें.

पंजाब सरकार द्वारा वर्ष 2017 से 2021 तक पैरा मेडिकल और अन्य स्टाफ के 10,000 से अधिक पदों की भर्ती पूर्ण की जा चुकी है.सिद्धू ने स्वास्थ्य विभाग में नव-नियुक्त अधिकारियों को बधाई दी और उनको राज्य की विभिन्न स्वास्थ्य संस्थाओं में इमानदारी और तन-मन से अपनी जिम्मेदारियां निभाने के लिए प्रोत्साहित किया. उन्होंने नव-नियुक्त अधिकारियों को संकट के इस समय में पंजाब के लोगों की सेवा करने की अपील की है.

ये भी पढ़ें:- NRC ड्राफ्ट में दोबारा सत्यापन की मांग, सुप्रीम कोर्ट पहुंचे असम के अधिकारी

डायरेक्टर स्वास्थ्य सेवाएं पंजाब डॉ. जी.बी. सिंह ने स्वास्थ्य विभाग में नौकरियां प्राप्त करने वाले नव-नियुक्त स्टाफ का स्वागत किया. उन्होंने नव-नियुक्त डॉक्टरों को इस महामारी के दौरान कुशलता से काम करने के लिए प्रेरित किया, क्योंकि हर रोज बड़ी संख्या में कोविड के मामले सामने आ रहे हैं. उनके पास सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थाओं में अपने फर्ज को कुशलता से निभाकर और इस महामारी को खत्म करने में योगदान देकर पंजाब के लोगों की सेवा करने का बड़ा मौका है.


उधर पंजाब सरकार ने कोवैक्स संस्थान के साथ जुडऩे का फ़ैसला किया, जिससे अच्छी कीमत पर कोविड के टीकों की खरीद के लिए वैश्विक स्तर पर पहुंच बनाई जा सके. इस तरह पंजाब यह नई पहल करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है, जिसका मकसद कोविड की दूसरी जानलेवा लहर के दौरान टीकों की कमी की समस्या का हल करना है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज