पंजाब सरकार का आदेश- सार्वजनिक सम्मेलन को लेकर नहीं माने नियम तो होगी FIR

सार्वजनिक सम्मेलनों को लेकर बनाए इन नियमों का उल्लंघन करते पाए गए लोगों के खिलाफ अनिवार्य रूप से एफआईआर दर्ज कराई जाएगी (File Photo)
सार्वजनिक सम्मेलनों को लेकर बनाए इन नियमों का उल्लंघन करते पाए गए लोगों के खिलाफ अनिवार्य रूप से एफआईआर दर्ज कराई जाएगी (File Photo)

पंजाब सरकार (Punjab Governemnt) ने शादी और अन्य सामाजिक कार्यों में लोगों की संख्या को कम कर दिया है. यही नहीं राज्य सरकार ने किसी भी सार्वजनिक सभा पर पूरी तरह से रोक लगा दी है.

  • Share this:
चंडीगढ़. देश में जारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार (Congress) ने कई अहम फैसले लिये हैं. पंजाब सरकार (Punjab Governemnt) ने शादी और अन्य सामाजिक कार्यों में लोगों की संख्या को कम कर दिया है. यही नहीं राज्य सरकार ने किसी भी सार्वजनिक सभा पर पूरी तरह से रोक लगा दी है. पंजाब मुख्यमंत्री कार्यालय से सोमवार को जारी किए गए आदेश में बताया गया कि सरकार ने सभी सार्वजनिक समारोहों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है, जबकि कुछ जरूरी सामाजिक समारोहों में सिर्फ पांच लोग ही मौजूद रह सकते हैं जबकि विवाह और अन्य सामाजिक कार्यों में वर्तमान में 50 के बजाय 30 लोगों की मौजूदगी को सीमित कर दिया गया है.

पंजाब सरकार की ओर से कहा गया है कि सार्वजनिक सम्मेलनों को लेकर बनाए इन नियमों का उल्लंघन करते पाए गए लोगों के खिलाफ अनिवार्य रूप से एफआईआर दर्ज कराई जाएगी. बता दें मई में केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोगों की संख्या 20 और शादी-विवाह समारोह में शामिल होने वाले लोगों की संख्या 50 कर दी थी. जिसे अब पंजाब सरकार ने बदलकर संख्या कम कर दी है.

ये भी पढ़ें- कोरोना की वैक्सीन में देर हुई तो 7.5% तक घट सकती है भारत की जीडीपी: रिपोर्ट



सिंह ने कहा- महामारी से सतर्कता से निपटने की जरूरत
इससे पहले राज्य के कई पीसीएस अधिकारियों और अन्य अधिकारियों के संक्रमित पाए जाने के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री ने गुरुवार को इस बात पर जोर दिया था कि इस महामारी से और सतर्कता के साथ निपटने की जरूरत है. उन्होंने मुख्य सचिव से सरकारी अधिकारियों की बैठक या अन्य कार्यालयों के दौरे के लिए मानक संचालन प्रक्रिया जारी करने का निर्देश देते हुए कहा कि महत्वपूर्ण पदों वाले अधिकारियों में बेफिक्री का रवैया स्वीकार्य नहीं है.

यह भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल: हेमताबाद विधायक देबेन्द्र नाथ राय की मौत की जांच CID को सौंपी गई

पंजाब में 7821 मामले, 199 मौतें
बता दें पंजाब में रविवार को कोरोना वायरस के 234 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7,821 पहुंच गई है जबकि इस महामारी से चार और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या 199 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. मेडिकल बुलेटिन के अनुसार राज्य में कोविड-19 के अभी 2,230 मरीजों का इलाज चल रहा है और पिछले 24 घंटे में 352 और लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई जिससे अब तक 5,392 लोग इस बीमारी से स्वस्थ हो चुके हैं.

विभाग ने बताया कि मौत के चार नये मामलों में दो मरीजों की मौत अमृतसर जबकि पठानकोट और संगरूर जिलों से एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है. बुलेटिन के अनुसार गंभीर स्थिति वाले नौ मरीज वेंटिलेटर पर हैं जबकि 59 ऑक्सीजन की मदद पर है. अब तक 3,95,185 नमूनों की जांच की गई है. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज