देर से कोरोना वायरस संक्रमण का पता चलना उच्च मृत्युदर की वजह: पंजाब के मंत्री
Chandigarh-Punjab News in Hindi

देर से कोरोना वायरस संक्रमण का पता चलना उच्च मृत्युदर की वजह: पंजाब के मंत्री
पंजाब के मंत्री ने देर से मामलों के सामने आने को अधिक मृत्यु दर का एक कारण बताया है (फाइल फोटो)

पंजाब (Punjab) में बुधवार को कोविड-19 (Covid-19) से 106 मरीजों की मौत हो जाने से मृतक संख्या 1618 हो गयी. मंत्री ने लोगों से कोरोना वायरस की जांच (Coronavirus Testing) करने में देरी कर अपनी जान जोखिम नहीं डालने की अपील की.

  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) में बुधवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) से 106 लोगों की मौत होने पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि देर से संक्रमण (Infection) का पता चलना उच्च मृत्युदर (High Death Rate) की वजह है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 मरीजों (Covid-19 Patients) की 60-70 फीसद मौत इसलिए हुई क्योंकि मरीज गंभीर लक्षण सामने आने के बाद स्वास्थ्य केंद्र (Health Center) पहुंचे. उन्होंने एक बयान में कहा कि ऐसे में ये मामले संभालने मुश्किल हो गये, फलस्वरूप मरीजों (Paients) की जान चली गयी.

पंजाब (Punjab) में बुधवार को कोविड-19 (Covid-19) से 106 मरीजों की मौत हो जाने से मृतक संख्या 1618 हो गयी. मंत्री ने लोगों से कोरोना वायरस की जांच (Coronavirus Testing) करने में देरी कर अपनी जान जोखिम नहीं डालने की अपील की. उन्होंने राज्य के पुलिस प्रमुख (State police chief) से इस बीमारी की जांच और उपचार (Testing and treatment) के बारे में दुष्प्रचार फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (Strict Action) करने को कहा.

मधुमेह जैसी बीमारियों से ग्रस्त मरीजों में कोरोना से अधिकतम मौत की यही वजह
नमूने देने और जांच कराने में विरोध के बारे में कुछ जिलों से खबर मिलने का जिक्र करते हुए सिद्धू ने कहा कि अन्य बीमारी से ग्रस्त कोविड-19 लक्षण वाले लोग तब तक स्वास्थ्य केंद्र नहीं पहुंचते जब तक बीमारी गंभीर रूप नहीं ले लेती है.
यह भी पढ़ें: संसद सत्र- प्रश्नकाल को लेकर विपक्ष की आंशिक जीत, लिखित में दिये जायेंगे उत्तर



उन्होंने कहा, ‘‘मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय एवं वृक्क जैसी अन्य बीमारियों से ग्रस्त मरीजों में कोरोना वायरस से अधिकतम मौत की यही वजह है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज