Home /News /punjab /

पंजाब: CM चरणजीत सिंह चन्नी अपने बेटे को लेकर पहुंच गए अधिकारिक बैठक में, फोटो वायरल

पंजाब: CM चरणजीत सिंह चन्नी अपने बेटे को लेकर पहुंच गए अधिकारिक बैठक में, फोटो वायरल

बैठक के दौरान चरणजीत सिंह चन्नी के बेटे रिदमजीत सिंह पीछे कुर्सी पर बैठे नज़र आ रहे हैं (फोटो-@manaman_chhina)

बैठक के दौरान चरणजीत सिंह चन्नी के बेटे रिदमजीत सिंह पीछे कुर्सी पर बैठे नज़र आ रहे हैं (फोटो-@manaman_chhina)

Charanjit Singh Channi Controversy: मुख्यमंत्री या अन्य मंत्री के परिवार का कोई भी सदस्य आधिकारिक बैठकों में शामिल नहीं हो सकता है. भारतीय जनता पार्टी ने इस घटना को अनैतिक करार देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है.

    चंडीगढ़. दो हफ्ते पहले पंजाब के मुख्यमंत्री बने चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने अभी तक चैन की सांस नहीं ली है. कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच ज़ुबानी जंग से परेशान चन्नी अब खुद नई मुसीबत में फंस गए हैं. दरअसल गुरुवार को एक आधिकारिक बैठक में चन्नी अपने बेटे रिदमजीत सिंह को लेकर पहुंच गए. ये बैठक राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर बुलाई गई थी. राज्य के सारे मंत्री और पुलिस के आला अधिकारी इस बैठक में मौजूद थे. अब इस मीटिंग की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जहां उनका बेटा भी दिख रहा है.

    भारतीय जनता पार्टी ने इस घटना को अनैतिक करार देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है. भाजपा पंजाब के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कहा, ‘चन्नी नियमों से अच्छी तरह वाकिफ हैं क्योंकि वो तीन बार विधायक रहे हैं. संविधान के नियमों का सम्मान करते हुए विश्वसनीयता और गरिमा हमेशा बनी रहनी चाहिए. ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि नियमों और मानदंडों से अच्छी तरह वाकिफ वरिष्ठ नौकरशाहों ने उन्हें इजाजत दी.’

    ये भी पढ़ें:- Mumbai Drug Bust: शाहरुख खान का बेटा आर्यन हिरासत में, ड्रग्स लेने की बात कबूली- एनसीबी सूत्र

    नियमों का उल्लंघन!
    इस बैठक में भाग लेने वाले मंत्रियों में परगट सिंह भी थे, जिन्हें शिक्षा, खेल और एनआरआई मामलों के मंत्रालय दिए गए हैं. बता दें कि मुख्यमंत्री या अन्य मंत्री के परिवार का कोई भी सदस्य आधिकारिक बैठकों में उपस्थित नहीं हो सकता है. अगर ऐसा होता है तो ये राज्य सरकार के कामकाज के नियमों का उल्लंघन है.

    बेटे की मौजूदगी राज्य के हित के खिलाफ
    एक रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि ये घटना आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन है. ऐसे मीटिंग में किसी भी प्राइवेट व्यक्ति या फिर गैर अधिकारिक लोगों की एंट्री गैरकानूनी है. उन्होंने कहा, ‘ये एक असामान्य प्रथा है और इतने ऊंचे पद पर बैठे व्यक्ति से इसकी उम्मीद नहीं की जाती है. सीएमओ में तैनात नौकरशाहों को इसकी जानकारी देनी चाहिए थी. ऐसी बैठकों में किसी अनधिकृत या निजी व्यक्ति की उपस्थिति राज्य के हित के खिलाफ है. ये मुख्यमंत्री द्वारा ली गई शपथ के भी खिलाफ है.’

    Tags: Charanjit Singh Channi, Chief Minister Charanjit Singh Channi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर