पंजाब: पुलिस ने पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी के चंडीगढ़ स्थित आवास पर छापा मारा
Chandigarh-Punjab News in Hindi

पंजाब:  पुलिस ने पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी के चंडीगढ़ स्थित आवास पर छापा मारा
चंडीगढ़ औद्योगिक एवं पर्यटन निगम के कनिष्ठ अभियंता रहे बलवंत सिंह मुल्तानी की गुमशुदगी के सिलसिले में पूर्व डीजीपी के खिलाफ इस साल मई में मामला दर्ज किया गया था.

सैनी और छह अन्य के खिलाफ मुल्तानी के भाई पलविंदर की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया. छापेमारी से एक दिन पहले मोहाली की एक अदालत ने इस मामले में सैनी की अग्रिम जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा था

  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब पुलिस (Punjab Pulice) के दल ने यहां राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) सुमेध सिंह सैनी (Sumedh Singh Saini) के घर पर शुक्रवार तड़के छापा मारा. छापेमारी 1991 में सैनी पर चंडीगढ़ में हुए एक आतंकी हमले के बाद एक व्यक्ति के लापता होने के सिलसिले में दर्ज मामले में की गई. अधिकारियों ने बताया कि सैनी अपने आवास पर नहीं मिले.

आतंकवादी हमले के बाद पुलिस ने पकड़ा था
चंडीगढ़ औद्योगिक एवं पर्यटन निगम के कनिष्ठ अभियंता रहे बलवंत सिंह मुल्तानी की गुमशुदगी के सिलसिले में पूर्व डीजीपी के खिलाफ इस साल मई में मामला दर्ज किया गया था. मोहाली के रहने वाले मुल्तानी को सैनी पर हुए आतंकवादी हमले के बाद पुलिस ने पकड़ा था. प्राथमिकी के मुताबिक 1991 में घटना के वक्त सैनी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक थे.

सह-आरोपी चंडीगढ़ पुलिस के दो अधिकारी सरकारी गवाह बने
सैनी तथा छह अन्य के खिलाफ मुल्तानी के भाई पलविंदर की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया. छापेमारी से एक दिन पहले मोहाली की एक अदालत ने इस मामले में सैनी की अग्रिम जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा था. अदालत ने 21 अगस्त को पंजाब पुलिस को सैनी के खिलाफ इस मामले में हत्या का आरोप जोड़ने की इजाजत दी थी. गुमशुदगी के इस मामले में सह-आरोपी चंडीगढ़ पुलिस के दो अधिकारी सरकारी गवाह बन गए थे.



सुमैद सिंह का फार्म हाउस
बता दें कि सुंदरनगर उपमंडल के तहत आने वाले निहरी क्षेत्र के जंखरी गांव में पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह गोयल का फार्म हाउस है. वह बीच-बीच में यहां पर आते रहते हैं. इसी इनपुट के आधार पर पंजाब पुलिस की टीम ने यह छापेमारी की है, लेकिन पंजाब पुलिस की इस छापेमारी के बारे में मंडी जिला पुलिस को कोई जानकारी नहीं थी. एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि उन्हें इस संदर्भ में कोई जानकारी पंजाब पुलिस या अन्य किसी से प्राप्त नहीं हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज