होम /न्यूज /पंजाब /पंजाब: भगवंत मान के 42 कारों के काफिले पर बवाल, विपक्ष का तंज- क्या यही हैं 'आम सीएम'

पंजाब: भगवंत मान के 42 कारों के काफिले पर बवाल, विपक्ष का तंज- क्या यही हैं 'आम सीएम'

सीएम मान के काफिले में 42 वाहन हैं. (फोटो news18)

सीएम मान के काफिले में 42 वाहन हैं. (फोटो news18)

Punjab News: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का काफिला भी अब विपक्ष के निशाने पर आ गया है. दरअसल एक आरटीआई की सूचना में ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

मुख्यमंत्री भगवंत मान का काफिला विपक्ष के निशाने पर.
सीएम भगवंत मान के काफिले में शामिल हैं 42 वाहन.
विपक्ष ने पूछा कि एक आम सीएम का इतना बड़ा काफिला क्यों.

(एस. सिंह)

चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का काफिला भी अब विपक्ष के निशाने पर आ गया है. दरअसल एक आरटीआई में खुलासा हुआ है कि सीएम मान के काफिले में 42 वाहन हैं. जिस पर भाजपा और कांग्रेस ने निशाना साधते हुए कहा है कि क्या यही बदलाव है? दोनों राजनीतिक दलों ने सरकार पर धन का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है. विपक्ष ने पूछा है कि एक आम सीएम को इतने बड़े काफिले की आवश्यकता क्यों है, क्या वह जनता में जाने से डरते हैं? पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस विधायक प्रताप सिंह बाजवा ने आरटीआई के तहत मांगी गई जानकारी का हवाला देते हुए कहा कि इस साल जून से पंजाब के सीएम भगवंत मान के काफिले में चलने वाले वाहनों की संख्या में भारी वृद्धि हुई है.

आरटीआई अधिनियम के तहत जानकारी से पता चला है कि इस साल राज्य परिवहन आयुक्त (एसटीसी) के कार्यालय द्वारा पंजाब के सीएम के काफिले को 42 वाहन उपलब्ध कराए गए हैं. जानकारी से पता चला है कि 31 मार्च 2007 से 30 मार्च 2012 तक पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल के पहले कार्यकाल में एसटीसी द्वारा सीएम को उपलब्ध कराई गई कारों की संख्या 33 थी. वहीं 31 मार्च 2012 से अपने दूसरे कार्यकाल में 30 मार्च 2017 तक सीएम प्रकाश सिंह बादल के काफिले में इतनी ही कारें थीं.

चन्नी के काफिले में थीं 39 कारें

इसी तरह पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के काफिले में उनका कार्यकाल खत्म होने तक 33 वाहन थे. वहीं 20 सितंबर 2021 से मार्च 2022 तक सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के काफिले में 39 कारें थीं. आरटीआई के मुताबिक इस साल 16 मार्च से 1 जून तक 39 कारें सीएम के काफिले में थी, उसके बाद काफिले में तीन और वाहन जोड़े गए. बाजवा ने कहा कि एसटीसी द्वारा सीएम के काफिले को उपलब्ध कराए गए 42 वाहनों के अलावा, पंजाब सुरक्षा विंग (पीएसडब्ल्यू) ने भी सीएम को वाहन दिए हैं, जो इसे एक असाधारण काफिला बनाता है. हालांकि पीएसडब्ल्यू ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए काफिले में जोड़े गए वाहनों की जानकारी देने से इनकार किया है.

‘टैक्सपेयर्स के पैसे को लापरवाही से कर रहे हैं खर्च’

बाजवा ने कहा कि सीएम बनने से पहले भगवंत मान जो सरकार का खर्च बचाने का उपदेश देते थे. लेकिन सीएम बनने के बाद उसी नक्शेकदम पर चल रहे हैं. मान संगरूर से सांसद रहते हुए इस तरह के मुद्दों पर सत्ताधारी दल की आलोचना किया करते थे. क्या मान को पंजाब के नागरिकों को यह बताने में कोई दिक्कत होगी कि वाहनों का यह बड़ा काफिला इस उद्देश्य को कैसे पूरा करता है? वह टैक्सपेयर्स का पैसा इतनी लापरवाही से क्यों खर्च करते हैं? उन्होंने आगे कहा कि ऐसी घटनाएं बताती हैं कि आप सरकार ने पंजाब के लोगों को बदलाव के नाम पर धोखा दिया है.

भाजपा ने भी साधा निशाना

भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने बाजवा के आरटीआई के जवाब को अपलोड करते हुए ट्वीट किया कि आरटीआई के माध्यम से यह खुलासा चौंकाने वाला है. सीएम के काफिले में वाहनों की संख्या दोनों पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल और कैप्टन अमरिंदर सिंह के कार्यकाल के दौरान 33 रहीं. जबकि भगवंत मान को सुरक्षित रखने के लिए “आम सीएम” भगवंत मान जी के काफिले में 9 कारें जोड़ी गईं.

Tags: Bhagwant Mann, Punjab Government, Punjab politics

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें