होम /न्यूज /पंजाब /

पंजाब: स्पीकर ने विशेष विधानसभा सत्र के लिए व्हिप किया जारी, AAP की तरफ से पेश होगा विश्वास मत

पंजाब: स्पीकर ने विशेष विधानसभा सत्र के लिए व्हिप किया जारी, AAP की तरफ से पेश होगा विश्वास मत

गुरुवार को सदन में आप सरकार की तरफ से विश्वास मत पेश किया जाएगा. (फोटो twitter/@CMOPb)

गुरुवार को सदन में आप सरकार की तरफ से विश्वास मत पेश किया जाएगा. (फोटो twitter/@CMOPb)

Punjab News: पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा गुरुवार को बुलाए जाने वाले विधानसभा के तीसरे विशेष सत्र को मंजूरी दे दी गई है. इसके साथ ही पंजाब विधानसभा स्पीकर की तरफ से विधानसभा सत्र की कार्यवाही से पहले व्हीप जारी किया गया है. साथ ही सभी आप विधायकों को सत्र में मौजूद रहने का भी आदेश है. वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान विधानसभा सत्र की कार्यवाही से पहले सुबह 9 बजे सभी विधायकों की बैठक लेंगे. इसके बाद सदन की कार्यवाही में आप सरकार की तरफ से विश्वास मत पेश किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

गुरुवार को पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र.
विधानसभा स्पीकर की तरफ से विधानसभा सत्र की कार्यवाही से पहले व्हीप जारी किया गया है.
आप सरकार की तरफ से विश्वास मत पेश किया जाएगा.

चंडीगढ़. पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा गुरुवार को बुलाए जाने वाले विधानसभा के तीसरे विशेष सत्र को मंजूरी दे दी गई है. इसके साथ ही पंजाब विधानसभा स्पीकर की तरफ से विधानसभा सत्र की कार्यवाही से पहले व्हीप जारी किया गया है. साथ ही सभी आप विधायकों को सत्र में मौजूद रहने का भी आदेश है. वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान विधानसभा सत्र की कार्यवाही से पहले सुबह 9 बजे सभी विधायकों की बैठक लेंगे. सदन की कार्यवाही सुबह 11 बजे शुरू होगी.

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी की तरफ से भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया गया है कि ऑपरेशन लोटस के तहत पंजाब सरकार को गिराने की कोशिश की गई. जिसके चलते गुरुवार को सदन की कार्यवाही में आप सरकार की तरफ से विश्वास मत पेश किया जाएगा.

मालूम हो कि गुरुवार को बुलाए जाने वाले विधानसभा के तीसरे विशेष सत्र को मंजूरी देने के कुछ घंटे बाद पूर्व डिप्टी स्पीकर वीर देवेंद्र सिंह ने सत्र को अवैध बताया और राज्यपाल से विधानसभा नियम की जांच करने का आग्रह किया. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए पूर्व डिप्टी स्पीकर ने कहा कि रूल बुक में सत्तारूढ़ दल द्वारा विश्वास प्रस्ताव पेश करने का कोई प्रावधान नहीं है, इसलिए यह अवैध है.

हालांकि विधानसभा अध्यक्ष कुलतार सिंह संधवां ने कहा कि विश्वास मत को कभी भी पेश किया जा सकता है और सरकार को ऐसा करने का अधिकार है. सरकार कोई भी प्रस्ताव ला सकती है. उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा शुरू किए गए ऑपरेशन लोटस के मद्देनजर मौजूदा सरकार में लोगों के विश्वास की पुष्टि करने के लिए इस सत्र को बुलाया जा रहा है.

एक सरकारी बयान में कहा गया है कि कैबिनेट ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 174 (1) के तहत सदन के विशेष सत्र को बुलाने के लिए पंजाब के राज्यपाल को भेजे जाने की सिफारिश को मंजूरी दे दी है. इसमें कहा गया है कि सत्र सुबह 11 बजे श्रद्धांजलि के साथ शुरू होगा. इसके बाद राज्य सरकार के पक्ष में एक विश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा.

Tags: Bhagwant Mann, Punjab Assembly Session

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर