Home /News /punjab /

पंजाब: शख्स ने बच्चे का अपहरण कर 1 लाख रुपए में बेचा, पुलिस ने बरामद कर परिजनों को सौंपा

पंजाब: शख्स ने बच्चे का अपहरण कर 1 लाख रुपए में बेचा, पुलिस ने बरामद कर परिजनों को सौंपा

पुलिस ने कहा कि दंपति ने अब तक विशाल को लगभग 70,000 रुपये का भुगतान किया है.

पुलिस ने कहा कि दंपति ने अब तक विशाल को लगभग 70,000 रुपये का भुगतान किया है.

Punjab: डीएसपी गिल ने आगे बताया कि विशाल मोगा के राजीव अस्पताल के आईवीएफ सेंटर में कर्मचारी था, जहां दंपती का इलाज चल रहा था. डीएसपी ने कहा कि विशाल ने दंपति से कहा था कि अगर उसे भुगतान किया जाता है तो वह उनके लिए एक बच्चे की व्यवस्था कर सकता है, जिसके बाद एक लाख रुपये का सौदा तय किया गया

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. पंजाब की मोगा पुलिस (Punjab’s Moga police) ने आठ महीने के एक बच्चे (eight-month-old baby) को बरामद किया है, जिसे कथित तौर पर एक निसंतान दंपति (childless couple) को 1 लाख रुपये में बेचा गया था. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी की पहचान विशाल के रुप में हुई है. बीते शनिवार को उसने मोगा के सिविल अस्पताल (civil hospital in Moga) से बच्चे का अपहरण (kidnapped) कर लिया था और फिर उसे फरीदकोट की एक दंपति को सौंप दिया था.

    अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पुलिस अभी तक विशाल को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. हालांकि पुलिस उस दंपति का पता लगाने में कामयाब रही, जिन्होंने बच्चे को खरीदा था.  मोगा शहर के डीएसपी जशनदीप सिंह गिल ने बताया कि आठ महीने के बच्चे का अपहरण मोगा सिविल अस्पताल के प्रसूति वार्ड से किया गया था जहां उसकी मां को मामूली सर्जरी के लिए भर्ती कराया गया था. बच्चे के पिता और दादा-दादी उसकी देखभाल कर रहे थे, जब अपहरणकर्ता, विशाल उनके पास आया और बच्चे को पालने की पेशकश की क्योंकि वह लगातार रो रहा था. इस दौरान जब बच्चे के पिता पानी लेने के लिए बाहर गए, तो विशाल कथित तौर पर बच्चे को लेकर फरार हो गया.

    डीएसपी गिल ने आगे बताया कि विशाल मोगा के राजीव अस्पताल के आईवीएफ सेंटर में कर्मचारी था, जहां दंपती का इलाज चल रहा था. डीएसपी ने कहा कि विशाल ने दंपति से कहा था कि अगर उसे भुगतान किया जाता है तो वह उनके लिए एक बच्चे की व्यवस्था कर सकता है, जिसके बाद एक लाख रुपये का सौदा तय किया गया. पुलिस ने कहा कि दंपति ने अब तक विशाल को लगभग 70,000 रुपये का भुगतान किया है. शनिवार को विशाल ने दंपत्ति को बच्चे को सौंपने के लिए मोगा बुलाया था.

    डीएसपी ने कहा कि जैतो (फरीदकोट) के डाबरी खाना गांव में जालंदा सिंह को यह बच्चा बेचा गया था. जालंदा सिंह ने कहा कि उसे इस बात की जानकारी नहीं थी कि बच्चे का अपहरण कर लिया गया है.जालंदा के मुताबिक उसे विशाल ने बताया कि बच्चा उसका भतीजा था और वे उसे गोद लेने के लिए देना चाहते थे क्योंकि उसकी बहन का वैवाहिक विवाद चल रहा था. जालंदा ने दावा किया कि उसने कुछ वित्तीय मदद के लिए पैसे मांगे थे. पुलिस ने कहा कि विशाल की गिरफ्तारी और पूछताछ के बाद ही मामले में तथ्यों का पता लगा पाएंगे.बच्चे को उसके माता-पिता को सौंप दिया गया है.

    Tags: Kidnapping Case, Punjab

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर